गर्मियों में रोजा रखने में खास सतर्क रहें मधुमेह और दिल के मरीज

मुस्लिमों के पवित्र माह रमजान का महीना चंद्र दर्शन के अनुसार 18 या 19 जून से शुरू है और इस बार करीब 34 साल बाद गर्मी के मौसम में करीब 15 घंटे 25 मिनट का लंबा रोजा होगा। ऐसे में डाक्टरों की सलाह है कि रोजे में दिल और मधुमेह रोग का शिकार मरीज खास सतर्क रहें और बिना अपने डाक्टर की सलाह के रोजा न रखें लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ प्रो. सुदीप कुमार ने मंगलवार को एक विशेष बातचीत में बताया कि रमजान में अक्सर दिल के मरीज और मधुमेह पीडित लोग यह सवाल करते हैं कि क्या उन्हें रोजा रखना चाहिये।