'पद्मावती' विवाद : सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, 'दीपिका हमें पिछड़ेपन पर लेक्चर न दें'

दीपिका पादुकोण ने कहा है कि फिल्म को रिलीज होने से कुछ भी नहीं रोक सकता है.

 'पद्मावती' विवाद : सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, 'दीपिका हमें पिछड़ेपन पर लेक्चर न दें'
फिल्मकार संजय लीला भंसाली पर इतिहास से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए कई नेताओं, संगठनों ने फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने फिल्म की लीड एक्ट्रेस दीपिका पर निशाना साधा है. स्वामी ने ट्वीट कर कहा, 'अभिनेत्री दीपिका पादुकोण हमें पिछड़ेपन को लेकर लेक्चर दे रही हैं! यह देश तभी विकास कर सकता है, जब उनकी नजर में वह पीछे जा रहा हो.' इस बीच दीपिका पादुकोण ने कहा है कि फिल्म को रिलीज होने से कुछ भी नहीं रोक सकता है.

बता दें कि राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मकार भंसाली पर इतिहास से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए कई नेताओं, संगठनों ने फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की है. वहीं दीपिका को पूरा भरोसा है कि फिल्म अपनी तय तारीख एक दिसंबर को ही रिलीज होगी. उन्होंने कहा, "यह भयावह है, यह बिल्कुल भयावह है. इससे हमें क्या मिला? और एक राष्ट्र के रूप में हम कहां पहुंच गए हैं? हम आगे बढ़ने के बदले पीछे हुए हैं." दीपिका ने कहा, "हमारी जवाबदेही सिर्फ सेंसरबोर्ड के प्रति है और मैं जनाती हूं और मेरा मानना है कि फिल्म को रिलीज होने से कुछ भी नहीं रोक सकता."

दीपिका ने कहा, "एक महिला के रूप में मुझे इस फिल्म का हिस्सा होने और कहानी को बताने पर गर्व है, जिसे बताए जाने की जरूरत है और इसे आज बताए जाने की जरूरत है." उन्होंने कहा कि फिल्म उद्योग से मिल रहा समर्थन इस बात का प्रतीक है कि यह सिर्फ 'पद्मावती' के बारे में नहीं है, बल्कि फिल्म उद्योग एक बड़ी लड़ाई लड़ रहा है. 

यह भी पढ़ें ; बूंदी की महारानी ने कहा,‘पद्मावती’ को रिलीज होनें दें, पद्मिनी के वंशज ने किया फिल्म का विरोध

इस बीज पद्मावती' को लेकर राजस्थान में करणी सेना का विरोध जारी है. मंगलवार को यह विरोध हिंसक रूप ले लिया. राजस्थान के कोटा में फिल्म 'पद्मावती' का ट्रेलर दिखाए जाने से नाराज करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने एक मॉल में तोड़फोड़ की.

इस घटना पर राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा, 'लोकतंत्र में सबको विरोध करने का अधिकार है. अगर वे लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करते हैं किसी को आपत्ति नहीं होगी. लेकिन अगर कोई कानून अपने हाथों में लेता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.' कटारिया ने कहा कि इस मामले 8 लोगों को अरेस्ट किया गया है. 

विश्व हिन्दू परिषद के नेता आचार्य धर्मेन्द्र ने फिल्म पद्मावती में इतिहास के साथ की गई कथित छेड़छाड़ पर तीव्र रोष व्यक्त करते हुए कहा कि फिल्म पद्मावती के सारे प्रिंट जला दिये जाने चाहिए और निर्माता/निर्देशक संजय लीला भंसाली पर मुकदमा चलाना चाहिए. आचार्य धर्मेन्द्र ने आज यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि फिल्म पद्मावती में जिस तरह के दृश्य दिखा कर हमारी महारानी पद्मावती के चरित्र का हनन किया जा रहा है, वह निदंनीय है. उन्होंने कहा, ‘‘यह देशद्रोही और हिन्दू विरोधी है.’’ 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close