अफ्सा पर फैसला जल्दबाजी में नहीं : एंटनी

Last Updated: Thursday, November 8, 2012 - 18:00

नई दिल्ली : रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने गुरुवार को कहा कि नियंत्रण रेखा पर सीमा पार से घुसपैठ में वृद्धि हुई है और जम्मू कश्मीर में विवादास्पद सशस्त्र बल विशेष शक्तियां अधिनियम (अफ्सा) मुद्दे पर जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं किया जाएगा। एंटनी ने कहा कि राज्य में हिंसा के स्तर में कमी आयी है लेकिन सतर्क रहने की जरूरत है ।
उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मैं मुख्यमंत्री (उमर अब्दुल्ला) की इस बात से सहमत हूं कि हिंसा के स्तर में कमी आयी है लेकिन घुसपैठ कम नहीं हुई है और इसमें थोड़ी वृद्धि हुई है । हमें 24 घंटे सतर्क रहने की जरूरत है । हम जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं कर सकते । मैं विस्तार में नहीं जा सकता लेकिन बातचीत जारी है ।
रक्षा मंत्री से जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री की अफ्सा हटाने की मांग के संबंध में सवाल किया गया था। उमर की मांग है कि राज्य में सुरक्षा स्थिति में सुधार के मद्देनजर को हटाया जाना चाहिए।
अब्दुल्ला ने सोमवार को कहा था कि वह अफ्सा को चरणबद्ध तरीके से हटाए जाने के पक्ष में हैं जिसके तहत सशस्त्र बलों को असीमित अधिकार दिए गए हैं ।
गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर सरकार और वहां के राजनीतिक दल कुछ समय से राज्य के कुछ हिस्सों से अफ्सा को हटाए जाने का मुद्दा उठाते रहे हैं ।
लेकिन रक्षा मंत्री और सेना राज्य से अफ्सा को हटाए जाने का इस आधार पर कड़ा विरोध कर रहे हैं कि उन्हें आशंका है कि इससे वहां सुरक्षा व्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है । रक्षा मंत्री ने इस मुद्दे पर अब्दुल्ला के साथ कई बैठकें की हैं । (एजेंसी)



First Published: Thursday, November 8, 2012 - 13:19
comments powered by Disqus