बीआरडी मेडिकल कॉलेज

गोरखपुर : बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 24 बच्चों की मौत, अब तक 1341 मौतें

गोरखपुर : बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 24 बच्चों की मौत, अब तक 1341 मौतें

गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बीते 48 घंटे के दौरान 24 और बच्चों की मौत का मामला सामने आया है. मेडिकल कॉलेज के ​प्राचार्य डॉ. पीके सिंह ने बताया कि विभिन्न वार्डों में तीन सितंबर को नौ बच्चों की मौत हुई जबकि चार सितंबर को 15 बच्चों की मृत्यु हुई. उन्होंने बताया कि इसके साथ ही मेडिकल कालेज में इस वर्ष मरने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 1341 हो गई.

Sep 5, 2017, 08:26 AM IST

गोरखपुर बच्चों की मौत: लिक्विड ऑक्सीजन अस्पताल को नहीं मिली?

This segment of Zee News is an update on the recent incident of death of children in BRD Medical College in Gorakhpur. Prinicpal PK Singh accepted that there was a delay in supply of liquid oxygen for 4-5 days by Pushpa Sales.

Aug 16, 2017, 11:28 PM IST
बच्चों की मौत मामले में 'हीरो' बनकर उभरे डॉ कफील की सामने आई असलियत!

बच्चों की मौत मामले में 'हीरो' बनकर उभरे डॉ कफील की सामने आई असलियत!

नई दिल्लीः गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन गैस सिलेंडरों की कमी से अस्पताल में हुई बच्चों की मौत ने पूरे देश को हिला दिया है. इस पूरे घटनाक्रम में एक नाम जो सामने आया वो था डॉ कफील का. घटना के बाद मेडिकल कॉलेज के डॉ. कफील खान मुश्किल समय में ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवाते दिखे.

Aug 14, 2017, 11:01 AM IST
गोरखपुर हादसा: बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिसिंपल सस्पेंड, डैमेज कंट्रोल में जुटी उप्र सरकार

गोरखपुर हादसा: बीआरडी मेडिकल कॉलेज के प्रिसिंपल सस्पेंड, डैमेज कंट्रोल में जुटी उप्र सरकार

केशव प्रसाद मौर्य ने लखनऊ में संवाददाताओं से कहा, 'गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज की त्रासदीपूर्ण एवं दर्दनाक प्रकरण में जो भी दोषी पाया गया, उसके खिलाफ निश्चित तौर पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी ' 

Aug 13, 2017, 12:24 AM IST
गोरखपुर हादसे पर सरकार का दावा, ऑक्‍सीजन की कमी से नहीं हुईं मौतें, आंकड़ों में उलझी सरकार

गोरखपुर हादसे पर सरकार का दावा, ऑक्‍सीजन की कमी से नहीं हुईं मौतें, आंकड़ों में उलझी सरकार

मुख्‍यमंत्री जी ने हमसे गोरखपुर जाकर स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इस पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं. मुख्‍य सचिव की अध्‍यक्षता में जांच समिति का गठन किया गया है. दोषियों पर सख्‍त से सख्‍त कार्रवाई की जाएगी. उन्‍होंने कहा कि 9 अगस्‍त को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज का दौरा किया था. इस दौरान किसी ने भी मुख्‍यमंत्री को ऑक्‍सीजन की कमी होने की जानकारी नहीं दी. सभी ऑक्सीजन सप्लाई का मुद्दा देख रहे हैं. लेकिन इस बार भी बच्‍चों की मौत अलग-अलग कारणों से हुई है.

Aug 12, 2017, 03:59 PM IST
आखिर क्‍या है वह जापानी बुखार, जिसका गोरखपुर में बच्‍चे करा रहे थे इलाज

आखिर क्‍या है वह जापानी बुखार, जिसका गोरखपुर में बच्‍चे करा रहे थे इलाज

बताया जा रहा है कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इलाज करने वाले अधिकतर बच्‍चे इन्सेफेलाइटिस (जापानी बुखार) से पीड़ित थे. इसके रोगी को ऑक्सीजन की जरूरत होती है. आपको बता दें कि इन्सेफेलाइटिस से ही पूर्वांचल में हर साल कई बच्‍चों की मौत होती है. इन्सेफेलाइटिस से इतनी बड़ी संख्‍या में मौत होने के बाद हर कोई इसके बारे में जानने की कोशिश कर रहा है. लोग इसके बारे में इंटरनेट पर सर्च करने के साथ ही चिकित्‍सकों से भी इस बारे में जानकारी कर रहे हैं. हम आपको बताते हैं इन्सेफेलाइटिस के बारे में विस्‍तार से और इसके बचाव के उपाय.

Aug 12, 2017, 03:16 PM IST
गोरखपुर अस्‍पताल हादसा : सीएम योगी आदित्‍यनाथ से छिपाई गई थी यह बड़ी बात?

गोरखपुर अस्‍पताल हादसा : सीएम योगी आदित्‍यनाथ से छिपाई गई थी यह बड़ी बात?

ऑक्सीजन की आपूर्ति से निपटने के लिए मेडिकल संस्‍थान की तरफ से अधिकारियों को 3 और 10 अगस्त को कमी के बारे में सूचित किया था. पुष्पा सेल ने भुगतान नहीं होने पर आपूर्ति बंद कर दी थी. सरकार ने इस मामले पर अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी रोगी की मौत नहीं हुई है. मेडिकल कॉलेज में भर्ती 7 मरीजों की विभिन्न चिकित्सीय कारणों से 11 अगस्त को मृत्यु हुई. घटना की मजिस्ट्रेटियल जांच के आदेश दे दिए गए हैं. वहीं डीएम ने 5 सदस्यीय टीम गठिक की जो कि आज अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.

Aug 12, 2017, 02:05 PM IST
गोरखपुर अस्‍पताल हादसे पर बोले कैलाश सत्यार्थी, कहा- यह हादसा नहीं, हत्या है

गोरखपुर अस्‍पताल हादसे पर बोले कैलाश सत्यार्थी, कहा- यह हादसा नहीं, हत्या है

गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल (BRD Medical College) में दो दिन में 33 बच्‍चों की मौत से हर कोई दुखी है. मीडिया रिपोटर्स में मासूमों की मौत के पीछे अस्‍पताल में ऑक्‍सीजन खत्‍म होना बड़ा कारण बताया जा रहा है. जबकि उत्‍तर प्रदेश सरकार और प्रशासन की तरफ से इससे इनकार किया जा रहा है. बच्‍चों की मौत से दुखी नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने भी इस हादसे के बाद ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि बिना ऑक्सीजन के 30 बच्चों की मौत हादसा नहीं, हत्या है. उन्‍होंने सवाल उठाया कि क्या हमारे बच्चों के लिए आजादी के 70 सालों का यही मतलब है.

Aug 12, 2017, 12:39 PM IST
गोरखपुर हादसा : मरने वाले बच्‍चों की संख्‍या 63 हुई, सीएम योगी ने बुलाई बैठक

गोरखपुर हादसा : मरने वाले बच्‍चों की संख्‍या 63 हुई, सीएम योगी ने बुलाई बैठक

गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) में 30 बच्चों की मौत पर उत्तर प्रदेश सरकार ने अपना पक्ष रखा है. राज्‍य सरकार की तरफ से कहा गया है कि किसी भी रोगी की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हुई है. यह भी कहा गया है कि मीडिया में इसको लेकर भ्रामक खबरें चलाई जा रही हैं. गौरतलब है कि पिछले 36 से 48 घंटों के बीच इन बच्चों की मौत हुई है.

Aug 12, 2017, 09:07 AM IST