close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : शक्ति सिंह गोहिल ने राम से की राहुल गांधी की तुलना, JDU-BJP ने कसा तंज

हनुमान पोस्टर और रथ यात्रा निकालने के बाद अब कांग्रेस नेताओं को राहुल गांधी में भगवान राम की झलक दिखने लगी है. 

बिहार : शक्ति सिंह गोहिल ने राम से की राहुल गांधी की तुलना, JDU-BJP ने कसा तंज
कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने राम से की राहुल गांधी की तुलना.

पटना : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तुलना भगवान राम से करने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल के बयान ने बिहार के सियासी गलियारे में हलचल मचा दी है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कांग्रेस की सोच पर ही सवाल खड़ा कर दिया है. बीजेपी नेता और बिहार सरकार में मंत्री प्रमोद कुमार ने कांग्रेस नेताओं को 'डपोरशंखी' करार दिया है. वहीं, कांग्रेस ने बीजेपी पर मंदिर और हिंदुत्व के नाम पर पाखंड करने का आरोप लगाया है.

उत्तर प्रदेश के बाद अब बिहार की सियासत में भी राम का नाम काफी सक्रिय हो गया है. हनुमान पोस्टर और रथ यात्रा निकालने के बाद अब कांग्रेस नेताओं को राहुल गांधी में भगवान राम की झलक दिखने लगी है. यही वजह है कि बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने राहुल गांधी की तुलना राम से कर दी.

शक्ति सिंह गोहिल का यह बयान बीजेपी नेताओं को पसंद नहीं आया. बीजेपी नेता प्रमोद कुमार ने गोहिल के बयान को लेकर कांग्रेस पर हमला बोल दिया है. मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा है कि कांग्रेस नेता 'डपरोशंखी' बयान दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने पहले भी चापलूसी में 'इंडिया इज इंदिरा और इंदिरा इज इंडिया' का नारा दे दिया था. उसी तरह आज के कांग्रेसी भी अपनी सियासत चमकाने के लिए राहुल गांधी की तुलना राम से कर रहे हैं. 

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) प्रवक्ता नीरज कुमार ने भी कांग्रेस नेता के बयान पर तंज कसा है. नीरज कुमार ने कहा है कि ये कैसे राम हैं जो अनंत सिंह और पप्पू खान जैसे लोगों की मदद ले रहे हैं. रांची जेल में बंद कैदी नम्बर 3351 से मदद ले रहे हैं. राम तो मर्यादा पुरुषोत्तम थे, लेकिन कांग्रेस नेता ने तो सभी मर्यादा तोड़ दी.

वहीं, आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानन्द तिवारी ने कहा है कि शक्ति सिंह गोहिल के बयान का गलत मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए. हम राम, शिव और कृष्ण के नाम की मिसाल तो देते ही हैं. राम का नाम हिंदुत्व का प्रतीक नहीं होता है. महात्मा गांधी भी राम का नाम लेते थे. ऐसे में यह नहीं माना जा सकता है कि गांधी हिंदुत्व के पैरोकार थे.

वहीं, कांग्रेस ने बीजेपी पर राम के नाम पर पाखंड करने का आरोप लगाया है. प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा है कि शक्ति सिंह गोहिल ने राहुल गांधी की तुलना राम से नहीं की, बल्कि राम के आदर्श पर चलने की बात कही है. जबकि बीजेपी राम, मंदिर और हिन्दुत्व के नाम पर पाखंड करती है. 

राहुल गांधी के मंदिर दर्शन और जनेऊ पहनने के बाद कांग्रेस अब बीजेपी को उसी की भाषा में जवाब देने की तैयारी कर रही है. ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि बिहार की सियासत में भी अब राम और मंदिर का मुद्दा छाया रहेगा.