close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने दिया इस्तीफा, ली हार की जिम्मेदारी

हार की समीक्षा करते हुए बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने अपने पद से इस्तीफ देने की घोषणा की है.

बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने दिया इस्तीफा, ली हार की जिम्मेदारी
शक्ति सिंह गोहिल ने बिहार प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया है. (फाइल फोटो)

पटनाः लोकसभा चुनाव 2019 में बिहार में महागठबंधन की बड़ी हार हुई है. एनडीए ने बिहार में 40 से 39 सीटें जीत ली. जबकि कांग्रेस एक सीट जीतने में कामयाब हुआ. लोकसभा चुनाव में हार के बाद देश भर में हार की समीक्षा की जा रही है. कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के पद से इस्तीफा देने की खबर के बाद से पूरे देश में पार्टी के विभिन्न पदों पर बने नेता भी इस्तीफा देना शुरू कर दिया. अब बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने भी प्रभारी पद से इस्तीफा दे दिया है.

बिहार में कांग्रेस की हार का ठिकरा पार्टी के अंदर आलाधिकारियों पर ही फोड़ा जा रहा है. कई नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बिहार में कांग्रेस की हार के लिए प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी को जिम्मेदार ठहराया है. जिसमें कहा गया है कि यहां टिकट से लेकर सीट बंटवारे तक सभी में खेल किया गया.

जिसके बाद हार की समीक्षा करते हुए बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने अपने पद से इस्तीफ देने की घोषणा की. उन्होंने हार की जिम्मेदारी भी ली है. उन्होंने अपना इस्तीफा कांग्रेस के आलाकमान के पास भेज दिया है. हालांकि उनका इस्तीफा मंजूर हुआ है या नहीं इसकी जानकारी नहीं दी गई है.

कांग्रेस के बड़े नेता निखिल कुमार ने भी कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस की हार का कारण गठबंधन है. साथ ही कम टिकट पर चुनाव लड़ना और टिकट के लिए सही उम्मीदवार को नहीं चुनना सबसे बड़े हार का कारण बना है.

आपको बता दें कि बिहार में कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल चुनाव के दौरान गठबंधन से लेकर टिकट बंटवारे और उम्मीदवार को लेकर दिल्ली तक दौरा कर रहे थे. ऐसे में नेताओं का मानना है कि उनकी वजह से बड़ी हार हुई है.

पूर्व मंत्री अब्दुल जलील मस्तान ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा था कि पार्टी में हमारी तो कोई पूछ ही नहीं है. उन्होंने कहा कि मैंने चुनाव से पहले ही आलाकमान को कहा था कि शक्ति सिंह गोहिल बिहार में पार्टी को खा जाएंगे और ऐसा ही हुआ.

बहरहाल, हार की जिम्मेदारी लेते हुए शक्ति सिंह गोहिल ने इस्तीफा दे दिया है. वहीं, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा पर भी हार के लिए जिम्मेदार ठहराया जा रहा है.