Bihar: मुकेश साहनी के भाई को VIP ट्रीटमेंट मिलने पर मचा बवाल, 'करतूत' से CM हुए हैरान

Bihar Politics: सीएम नीतीश कुमार ने उस अखबार की कॉपी को मंगवाया और खबर को देखा. साथ ही आरजेडी सदस्यों की मांग पर नीतीश ने कहा कि यह मैने देखा नहीं था.यह आश्चर्य जनक है और यह नहीं होना चाहिए.

Bihar: मुकेश साहनी के भाई को VIP ट्रीटमेंट मिलने पर मचा बवाल, 'करतूत' से CM हुए हैरान
मुकेश साहनी के भाई को VIP ट्रीटमेंट मिलने पर मचा बवाल. (फाइल फोटो)

Patna: बिहार सरकार में मंत्री और VIP पार्टी के प्रमुख मुकेश सहनी (Mukesh Sahani) विवादों में घिर गए हैं. मंत्री पर सरकारी कार्यक्रम में खुद ना जाकर भाई को सरकारी बनाकर भेजने का आरोप लगा है. मीडिया में खबर आने के बाद विपक्ष ने मुद्दे को सदन में उठाते हुए इस मसले को लेकर सरकार को घेर लिया. साथ ही मंत्री के इस्तीफा की मांग की.

CM नीतीश हुए हैरान
वहीं, इसकी जानकारी जैसे ही सीएम नीतीश कुमार को मिली तो मुख्यमंत्री भी हैरान रह गए. सीएम ने इस पूरे मामले को देखने की बात कही है तो उधर मामला तूल पकड़ा लिया और मंत्री की बोलती बंद हो गई. हैरानी की बात यह है कि जिस सरकारी कार्यक्रम में मंत्री को होना चाहिए था वहां मंत्री के भाई सरकारी बनकर सामान का वितरण कर रहे हैं. 

मंत्री बनकर भाई ने बांटा सामान
दरअसल, एक तस्वीर हाजीपुर से आई है जहां अक्षयवट स्टेडियम में मछुआरों के लिए सुख सुविधा के लिए मंत्री जी को आइस बॉक्स मोपेड,  थ्री व्हीलर और फोर व्हीलर का वितरण करना था. इस सरकारी कार्यक्रम में मंत्री मदन साहनी को शामिल होना था. लेकिन इसमें शामिल उनके भाई संतोष साहनी हुए और मंत्री बनकर सामान का वितरण भी किया. 

'बिहार हुआ शर्मसार'
वहीं, इस मामले पर आरजेडी नेता भाई वीरेंद्र ने कहा कि मुकेश सहनी के भाई सरकारी गाड़ी उपयोग करके कार्यक्रम का उद्घाटन करने जा रहे हैं और उन्हें मंत्री की तरह ट्रीट किया जा रहा है. भाई वीरेंद्र ने कहा कि इससे बिहार शर्मसार हुआ है और मुख्यमंत्री कहते हैं कि राज्य में सुशासन की सरकार है और सुशासन की सरकार में इसी तरह का काम हो रहा है. उन्होंने कहा कि परिवार के लोग मंत्री बनकर जाते हैं और सरकार भी उनको उसी तरह ट्रीट करती है. 

'यह नहीं होना चाहिए'
इधर, सीएम नीतीश कुमार ने उस अखबार की कॉपी को मंगवाया और खबर को देखा. साथ ही आरजेडी सदस्यों की मांग पर नीतीश ने कहा कि यह मैने देखा नहीं था.
यह आश्चर्य जनक है और यह नहीं होना चाहिए. वहीं, विपक्ष के इस हमले से सरकार बैकफुट पर आ गई. सीएम ने खुद भरोसा दिया कि वो मामले को देखेंगे तो बीजेपी की बोलती बंद है. इस बीच मंत्री खुद सामने आए. लेकिन जवाब देने के बजाए विपक्ष से ही सवाल पूछ लिया.

'बिना वजह हो रही राजनीति'
इस मामले पर बीजेपी विधायक पवन जायसवाल ने कहा कि सीएम ने खुद बोला है कि मामले को देखेंगे तो अब कुछ बोलने के लिए बचता नहीं हैं. जबकि मंत्री ने कहा कि विपक्ष के पास बोलने को कुछ नहीं है और वो बिना वजह इस मामले पर राजनीति कर रहा है. 

(इनपुट-आशुतोष चंद्रा/रूपेंद्र श्रीवास्तव)