close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

JDU ने महागठबंधन को बताया 'भानुमति का कुनबा', BJP भी बोली- CM पद के लिए नो रूम

जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने महागठबंधन पर तंज कसा और कहा कि यह भानुमति का कुनबा है. हर वक्त टूट की स्थिति बनी रहती है. 

JDU ने महागठबंधन को बताया 'भानुमति का कुनबा', BJP भी बोली- CM पद के लिए नो रूम
बीजेपी और जेडीयू का महागठबंधन पर तंज. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार में महागठबंधन की हालात पर सत्ता पक्ष ने तंज कसा है. सत्ता पक्ष के नेताओं ने कहा कि बिहार में विपक्ष बिखरा हुआ है. महागठबंधन में हर वक्त टूट की स्थिति बनी रहती है. बिहार पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) प्रमुख जीतन राम मांझी ने कहा है कि अगर महागठबंधन उन्हें नेता चुने तो वह भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं. वहीं, बिहार कांग्रेस ने भी दावा ठोंका कि उनके पास भी नेताओं की कमी नहीं है.

जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने महागठबंधन पर तंज कसा और कहा कि यह भानुमति का कुनबा है. हर वक्त टूट की स्थिति बनी रहती है. जेडीयू के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि महागंठबधन बिखर चुका है. उनकी सबसे बड़ी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में नेतृत्व की कमी है. तेजस्वी यादव में वो दमखम नहीं जो सभी को साथ लेकर चल सकें. उन्होंने कहा कि महागठबंधन के नेताओं को सिर्फ हेडलाइन में बने रहने की बेचैनी रहती है.

वहीं, इस मामले पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और बिहार सरकार में मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि सपना देखने पर कोई पांबदी नहीं है, लेकिन बिहार में मुख्यमंत्री पद की वैकेंसी नहीं है. महागठबंधन के नेता कल्पना करते रहें. 'एक अनार सौ बीमार' नहीं, महागठबंधन में बीमार ही बीमार है.

आरजेडी के एमएलसी सुबोध राय ने कहा कि सता पक्ष के नेता अपने गिरेबां में झांकें. विपक्ष अपनी भूमिका बखूबी निभा रही है. सीएम बनने का ख्वाब कोई भी देख सकता है, लेकिन जिसके भाग्य में होगा वही कुर्सी पर बैठेगा. चुनाव खत्म होने के बाद विधायक दल का नेता चुना जाता है. सत्ता पक्ष के लोग अपनी नाकामी छुपाने के लिए जनता को दिगभ्रमित कर रहे हैं.

लोकसभा चुनाव के बाद तेजस्वी यादव का नजर नहीं आना, महागठबंधन के नेताओं का बयानबाजी, कहीं न कहीं एकजुटता पर सवाल खड़ा कर रही है. अब देखना होगा कि आने वाले दिनों में महागठबंधन बिखर जाएगी या फिर और मजबूत होगी.