बिहार: उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर बरसी BJP-JDU, बोली- जूता-प्याज का अनुभव उन्हें ही ज्यादा

उपेंद्र कुशवाहा के जूता और प्याज वाले बयान पर बीजेपी का प्रवक्ता नवल यादव ने पलटवार करते हुए कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा 5 साल तक मंत्री के रूप में एनडीए के गठबंधन में रहे हैं और मलाई खाए हैं. बीजेपी में जूता और प्याज खाने का सिस्टम नहीं है.

बिहार: उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर बरसी BJP-JDU, बोली- जूता-प्याज का अनुभव उन्हें ही ज्यादा
बीजेपी का प्रवक्ता नवल यादव ने पलटवार किया है.

पटना: उपेंद्र कुशवाहा के जूता और प्याज वाले बयान पर बीजेपी का प्रवक्ता नवल यादव ने पलटवार करते हुए कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा 5 साल तक मंत्री के रूप में एनडीए के गठबंधन में रहे हैं और मलाई खाए हैं. बीजेपी में जूता और प्याज खाने का सिस्टम नहीं है.

उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा को जूता और प्याज खाने का अनुभव है. अब आरजेडी जूता मार रही है या कांग्रेस प्याज खिला रही है या जीतन राम मांझी उपेंद्र कुशवाहा को प्याज खिला रहे हैं या जूता मार रहे हैं ये वो ही बता सकते हैं लेकिन इससे बेहतर जूता और प्याज का अनुभव कोई नहीं बता सकता है.

नवल यादव ने कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा राजनीति करते हैं लेकिन छटपटाहट में किसी को या किसी पार्टी के बारे में न बोलें. नीतीश कुमार से उनकी वैचारिक मतभेद हैं इस तरफ बीजेपी को लेकर गाली कुशवाहा नहीं दें, कुशवाहा अपने जूता खाने का अनुभव बताएं. 

वहीं, जेडीयू के विधायक सुधांशु शेखर उपेंद्र कुशवाहा के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कुशवाहा समाज के एक अच्छे नेता हैं. इस तरह की भाषा का प्रयोग जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कर रहे है वह पहले खुद को झांक कर देख लें. जूता और प्याज इनको महागठबंधन के लोग खिला रहे हैं. उपेंद्र कुशवाहा को कांग्रेस आरजेडी और जीतन राम मांझी खिला रहे है. पहले अपनी हालत को बताएं. 

कहा जाता है कि एक समय था कि राजनीति में शब्दों की मर्यादा बनी हुई थी लेकिन समय के साथ इसमें भी बदलाव आ गया है और अब राजनीति में राजनेता एक दूसरे पर बयानबाजी करते समय शब्दों की मर्यादा भूल जाते हैं.