सहरसा: BJP नेता ने कहा- CAA शरणार्थियों के जीवन में आशा की नई किरण
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar617150

सहरसा: BJP नेता ने कहा- CAA शरणार्थियों के जीवन में आशा की नई किरण

बीजेपी नेता ने कहा कि यह कानून भारतीय मुसलमानों के साथ भेदभाव नहीं करता है. इससे भारतीय मुसलमानों का हित किसी भी रूप में प्रभावित नहीं होता है.

बीजेपी नेता ने कहा कि यह कानून भारतीय मुसलमानों के साथ भेदभाव नहीं करता है.

सहरसा: बिहार के सहरसा में नागरिकता कानून को लेकर विपक्ष द्वारा फैलाए जा रहें भ्रांतियों को दूर करने के लिए प्रतापनगर स्थित बीजेपी (BJP) नेता कार्तिक कुमार सिंह के आवास पर पूर्व सांसद एवं प्रदेश प्रवक्ता विश्व मोहन कुमार ने मीडिया के साथ वार्ता किया.

उन्होंने कहा वसुधैव कुटुम्बकम् की प्राचीन भारतीय परंपरा के गौरवपूर्ण भारत की परिकल्पना को नागरिकता संशोधन एक्ट (Citizenship amendment act) चरितार्थ करता है. सीएए कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार शरणार्थियों के जीवन में आशा की एक नई किरण लेकर आया है.

बीजेपी नेता ने कहा कि यह कानून भारतीय मुसलमानों के साथ भेदभाव नहीं करता है. इससे भारतीय मुसलमानों का हित किसी भी रूप में प्रभावित नहीं होता है. उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य केवल अल्पसंख्यकों की रक्षा करना है. जो अपने संबंधित देशों में अपनी धार्मिक मान्यताओं के कारण सताए जा रहे हैं.

बता दें कि नागरिकता संशोधन एक्ट को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है. साथ ही इस कानून को लेकर बीते दिनों कई प्रदेशों में हिंसा और विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिला था. विपक्ष का आरोप है कि सरकार धर्म के आधार पर भेदभाव कर रही है और इससे लोगों की नागरिकता को खतरा है. वहीं, केंद्र सरकार ने साफ कहा दिया है कि सीएए से किसी भारतीय की नागरिकता नहीं जाएगी.