close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बालिका गृह कांड : CBI कर सकती है कुछ अहम लोगों को गिरफ्तार, पूछताछ में मधु ने उगले कई नाम

सीबीआई मधू और डॉक्टर अश्वनी दोनों को साथ रखकर लगातार पूछताछ कर रही है. 

बालिका गृह कांड : CBI कर सकती है कुछ अहम लोगों को गिरफ्तार, पूछताछ में मधु ने उगले कई नाम
सीबीआई रिमांड पर मधु से पूछताछ जारी. (फाइल फोटो)

मुजफ्फरपुर : बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की जांच कर रही सीबीआई इन दिनों ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रिमांड पर मधू ने कई राज खोले हैं. इसे देखते हुए रिमांड की अवधि तीन दिनों के लिए बढ़ा दी गई है. सीबीआई को अभी मधु से पूछताछ में कई और राज खुलने की उम्मीद है.

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु ने हाल ही में सीबीआई के समझ सरेंडर किया. कांड सामने आने के बाद से लगातार वह फरार चल रही थी. इसी दिन आर्म्स एक्ट के एक केस में बिहार सरकार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने भी बेगूसराय कोर्ट में सरेंडर किया था. कॉल डिटेल के जरिए मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा और ब्रजेश ठाकुर के बीच संबंध की बात सामने आई थी. 

सीबीआई मधू और डॉक्टर अश्वनी दोनों को साथ रखकर लगातार पूछताछ कर रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, दोनों ने कई नाम उजागर किए हैं. पूछताछ के आधार पर सीबीआई कई लोगों को गिरफ्तार कर सकती है.

ज्ञात हो कि बालिका गृह कांड केस की सीबीआई जांच जारी है. इस मामले की मॉनिटरिंग कर रहे सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में बिहार सरकार को जमकर फटकार लगाई थी. इसके अलावा कोर्ट ने टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस (TISS) की रिपोर्ट के आधार पर मुजफ्फरपुर सहित बिहार के 17 शेल्टर होम की जांच की जिम्मेदारी सीबीआई को सौंप दी है. कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई जांच शुरू करने जा रही है.

बिहार सरकार ने राज्य में चलने वाले सभी सेल्टर होम की सोशल ऑडिट की जिम्मेदारी TISS को सौंपी थी, जिसकी रिपोर्ट के आधार पर मुजफ्परपुर बालिका गृह कांड का खुलासा हुआ था. टिस की रिपोर्ट में बिहार के 17 शेल्टर होम के हालात गंभीर बताए गए थे. TISS की इसी रिपोर्ट में मुजफ्फरपुर बालिका गृह के बारे में बताया गया है कि सेवा संकल्प और विकास समिति इसका संचालन सही ढंग से नहीं कर रही थी. साथ ही यह भी बताया गया था कि यहां की लड़कियों ने यौन उत्पीरण की शिकायत की है.