बगहा: श्रद्धालुओं में जबरदस्त उत्साह, डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के लिए उमड़ी भीड़

 श्रद्धालुओं ने नारायणी गंडक नदी और नहरों में पानी के बीच खड़े होकर भगवान भास्कर की अराधना की. वहीं, छठव्रती श्रद्धालु अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया और छठी मैया से मन्नतें मांगी.

बगहा: श्रद्धालुओं में जबरदस्त उत्साह, डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के लिए उमड़ी भीड़
व्रती महिलाओं ने डूबते सूर्य को दिया अर्घ्य. (फाइल फोटो)

बगहा: बिहार के बगहा में लोक आस्था के महापर्व छठ (Chhath) पूजा के तीसरे दिन डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी.

इस दौरान श्रद्धालुओं ने नारायणी गंडक नदी और नहरों में पानी के बीच खड़े होकर भगवान भास्कर की अराधना की. वहीं, छठव्रती श्रद्धालु अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया और छठी मैया से मन्नतें मांगी.

इसके अलावा भारत-नेपाल सीमा पर स्थित वाल्मिकी नगर में भी गंडक नदी किनारे श्रद्धालुओं ने डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया. आपको बता दें कि आस्था और विश्वास के महापर्व छठ की बिहार सहित देश के विभिन्न राज्यों में धूम है.

इस पर्व को लेकर लोगों के मन में भारी उत्साह है. चार दिन तक चलने वाला ये पर्व नहाए-खाय के साथ शुरू होता है. छठ के दौरान महिलाएं 36 घंटे लगातार निर्जला कठिन व्रत रखती हैं.

व्रती महिलाएं इस दौरान छठी मैया की अराधना करती हैं और परिवार के सुख- शांति की कामना करती हैं.