फारबिसगंजः बांध टूटने से नदी की दूसरी तरफ फंसे लोग, प्रशासन ने मदद में जताई असमर्थता

फारबिसंगज में परमान नदी पूरे उफान पर है. नदी में तेज बहाव की वजह से पिपरा घाट पर तटबंध टूट गया है. 

फारबिसगंजः बांध टूटने से नदी की दूसरी तरफ फंसे लोग, प्रशासन ने मदद में जताई असमर्थता
फारबिसगंज में परमान नदी पर बांध टूट गया है.

फारबिसगंजः बिहार में मॉनसूनी बारिश लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है. वहीं, नदियों का जल स्तर बढ़ने के बाद नदी किनारे बसे गांवों पर खतरा मंडरा रहा है. नेपाल से सटे राज्य के जिलों में खतरा और भी बढ़ गया है. यहां बारिश के अलावा नेपाल से आने वाली पानियों से नदी का जल स्तर काफी तेजी से बढ़ रहा है. वहीं, प्रशासन लोगों की मदद करने में असमर्थता जता रही है.

नेपाल से सटे बिहार के फारबिसंगज में परमान नदी पूरे उफान पर है. नदी में तेज बहाव की वजह से पिपरा घाट पर तटबंध टूट गया है. तटबंध टूटने के बाद हजारों लोग नदी के दूसरे तरफ फंस गए हैं. वहीं, पानी सड़क पर आ गया है.

पानी के तेज बहाव के कारण फारबिसगंज कुर्साकांटा मुख्य सड़क मार्ग पर कई जगहों पर पानी बहने लगा है. इसके बाद सड़क टूटने की भी आशंका बढ़ गई है. तटबंध टूटने से गांव में पानी तेजी से घुस रहा है. लोग अब बांध पर शरण ले रहे हैं. और सभी लोग प्रसाशन से गुहार लगा रहे हैं.

वहीं, क्षेत्र के बीडीओ अमित आनंद ने असमर्थता जताते हुए कहा कि नाव नहीं होने के कारण मदद नहीं हो पा रही है. हालांकि, एक गर्भवती महिला को पुराने नाव से निकाला गया लेकिन नाव की हालत जर्जर है इसलिए उसका उपयोग खतरनाक है. 

बीडीओ ने बताया कि उन्होंने नाव की डिमांड की थी लेकिन अभी तक नाव उपलब्ध नहीं कराई गई है. जिस कारण फिलहाल प्रसाशन कुछ नहीं कर सकता है.