झारखंड: ASG अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही आई सामने, दंपत्ति के आंखों में डाली एक्सपायरी दवा

मामले को संज्ञान में लेते हुए उपयुक्त ने बुधवार को जिले के सिविल सर्जन को जांच का आदेश दिया, जिसके बाद सिविल सर्जन द्वारा नियुक्त डॉक्टरों के द्वारा अस्पताल पहुंचकर दंपत्ति के आंखों का जांच किया गया

झारखंड: ASG अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही आई सामने, दंपत्ति के आंखों में डाली एक्सपायरी दवा
एएसजी अस्पताल में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आई है.

जमशेदपुर: झारखंड के जमशेदपुर के साकची स्थित एएसजी आंख अस्पताल की बड़ी लापरवाही सामने आई है. यहां आंखो की जांच करवाने आए एक दंपत्ति को इलाज कराना काफी महंगा पड़ गया.

दरअसल, सुभाष एन बोस और उनकी पत्नी विक्टोरिया आंखों की जांच कराने बीते साल जनवरी 2019 से एएसजी ऑय अस्पताल के चक्कर लगा रहे हैं. दरअसल, यहां डॉक्टर दंपत्ति की आंखों में दवा डाल दिया और कुछ देर रूकने को कहा, लेकिन जब दंपत्ति की आंखों में दर्द, पीलापन और धुंधला की समस्या आई तो वो इसकी शिकायत लेकर अस्पताल पहुंचे.

यहां डॉक्टरों ने दंपत्ति पर ऑपरेशन का दबाव बनाया तो उन्होंने इसका विरोध किया और कहा कि अस्पताल द्वारा उन्हें एक्सपायर दवा दिया गया. इसके बाद दंपत्ति ने मामले की शिकायत उपायुक्त के पास पहुंचे और उन्हें इसकी जानकारी दी.

इधर, मामले को संज्ञान में लेते हुए उपयुक्त ने बुधवार को जिले के सिविल सर्जन को जांच का आदेश दिया, जिसके बाद सिविल सर्जन द्वारा नियुक्त डॉक्टरों के द्वारा अस्पताल पहुंचकर दंपत्ति के आंखों का जांच किया गया.
 
वही जांच करने आए डॉक्टर एबीके बाखला ने कहा कि अस्पताल में जो दवाई दिया गया उससे आंखों की समस्या हुई है. मरीजों को दवाई से एलर्जी होने से इस तरह के समस्या सामने आती है, जो बहुत काम लोगों में होता है.

उन्होंने कहा की सभी कागजातों की भी जांच की गई ,जो पूरे होने के बाद सिविल सर्जन को रिपोर्ट सौप दी जाएगी. वहीं, इस मामले में अस्पताल प्रबंधन कुछ भी कहने से कतरा रहा है.