close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारिश को लेकर बिहार में जारी किया गया अलर्ट, इन जिलों में लगाया गया धारा 144

 भारी बारिश की संभावना को देखते हुए पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई. जिलों के सभी सरकारी और निजी स्कूल कल बंद रहेंगे.

बारिश को लेकर बिहार में जारी किया गया अलर्ट, इन जिलों में लगाया गया धारा 144
बारिश की वजह से बिहार में अलर्ट जारी किया गया है.

कृष्णदेव कुमार/सीतामढ़ीः बिहार में अगले 48 घंटे लोगों के लिए लोगों के लिए आफत साबित होने वाले है. क्योकि मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे के लिए प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के अनुसार पटना समेत कई जिलों में मूसलाधार बारिश होगी. पिछले एक हफ्ते से बिहार के लगभग सभी जिलों और नेपाल में लगातार हो रही बारिश से नदियों के जल स्तर में भी बढ़ोतरी हुई है. जिसकी वजह से निचले स्तर पर रहने वालें लोग भयभीत नजर आ रहे हैं.

मौसम विभाग के अनुसार अररिया, मोतिहारी, बेतिया, सुपौल, सीतामढ़ी, मधुबनी, भागलपुर, खगड़िया, पूर्णिया और मधेपुरा में भारी बारिश का अलर्ट है. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए पूर्वी चंपारण और मोतिहारी में धारा 144 लगाई गई. जिलों के सभी सरकारी और निजी स्कूल कल बंद रहेंगे.

बिहार में हो रहे बारिश से सबजे ज्यादा प्रभावित पूर्वी चम्पारण और पच्छिमी चम्पारण जिला है. तीन दिनों से लगातोर हो रहे बारिश की वजह से मोतिहारी और पूर्वी चम्पारण में प्रशासन के द्वारा धारा 144 लगाई गई है. मोतिहारी में सड़क से लेकर मोहल्ला तक जलमग्न हो गया है. आफत के बरसात से लोगों का आम जनजीवन काफी प्रभावित हो गया है. जगह जगह पेड़ टूटकर सड़क पर गिर गए हैं. 

मोतिहारी के राजाबाजार, चांदमारी मोहल्ला और टाउन हॉल के पास पेड़ गिर गया है जिसे हटाने की कोशिशें की जा रही है. मोहल्ले में लोगो के घरों में पानी प्रवेश कर गया है.लोग अपने अपने घरों को छोड़कर पड़ोसी के दो तल्ले  मकान या ऊँचे जगहों पर जा रहे है. मोतीहारी के बारिश से परेशान लोगों का कहना है कि इतनी बारिश कभी नही हुई थी फिलहाल मोतिहारी में लगातार बारिश का सिलसिला जारी है.

बिहार के पच्छिमी चम्पारण बगहा में चार दिनों से हो रही लगातार बारिश से गांव और शहर के हलात बिगडे ,शहर के नगर परिषद कार्यालय समेत बिजली ग्रिड और अर्बन पीएचसी झील में तब्दील हो गए है ,  गांव से लेकर शहर में कई जगहों पर बाढ़ जैसे हालात. एहतियातन के तौर पर प्रशासन द्वारा बिजली काट दी गई है.

दूसरी ओर बिहार के सीतामढ़ी मे लगातार हो रही बरसात गरीब लोगो के लिये कयामत बनकर टूट रही है.बरसात की वजह से तीन लोगो की जान चली गयी.परसौनी के मदनपुर गांव की घटना है जहा लगातार हो रही बरसात की वजह से जर्जर मकान का छत गिर गया जिसमे एक महिला और उसके मासूम बच्चो की दब कर मौत हो गयी.मौके पर प्रशासन की टीम  पहुची है जबकि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये सीतामढ़ी सदर अस्पताल भेज दिया है. 

बिहार में बारिश लोगों के लिए मुसीबत के साथ साथ अब बिहार में बाढ़ का खतरा भी मंडराने लगा है. कोशी-गंगा, बागमती, गंडक  नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है. वहीं, किशनगंज में नेपाल के तराई क्षेत्र में कई दिनों से लगातार हो रही बारिश से नेपाल सीमा से सटे बिहार के किशनगंज जिले से होकर बहनेवाली सभी नदिया उफान पर हैं. नदियों के जलस्तर लगातार बढ़ने से नदी खतरे के निशान को छु रहा है और जिले के निचले इलाके में पानी घुसने लगा है.

मौसम विभाग वैज्ञानिक आनंद शंकर के अनुसार बिहार में मॉनसून की बारिश यू ही होती रहेगी. कटिहार, पूर्णियां, सीतामढ़ी,सुपौल, प चम्पारण में तेज बारिश होगी. जोरदार बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है. यही नहीं सूखे की आशंका से ग्रसित बिहार में पिछके एक सप्ताह से जोरदार बारिश हुई है. औसत से काफी कम बारिश की मार झेल रहे बिहार को इन 5-6 दिनों में बराबरी पर ले आया है. फिलहाल औसत से अधिक बारिश दर्ज की गई है.