close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : पूर्व सैनिकों ने की शराब से प्रतिबंध हटाने की मांग, कहा- हमारे लिए पीना जरूरी

दरभंगा वायु सेना केंद्र में बिहार और झारखंड के रिटायर्ड जवानों की एक रैली हुई, जिसमें बिहार सैनिक कल्याण के निदेशक दिलीप प्रसाद भी शामिल हुए.

बिहार : पूर्व सैनिकों ने की शराब से प्रतिबंध हटाने की मांग, कहा- हमारे लिए पीना जरूरी
पूर्व सैनिकों ने की सेना के लिए शराब से प्रतिबंध हटाने की मांग.

दरभंगा : एक तरफ जहां सेना के शौर्य पर पूरा देश गर्व कर रहा है वहीं, सेना से रिटायर्ड जवान अपना दर्द सुना रहे हैं. दरभंगा वायु सेना केंद्र में बिहार और झारखंड के रिटायर्ड जवानों की एक रैली हुई, जिसमें बिहार सैनिक कल्याण के निदेशक दिलीप प्रसाद भी शामिल हुए. तकरीबन डेढ़ दशक के बाद हुई इस रैली में 500 से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया.

रैली को सेना के कई बड़े अधिकारी के साथ-साथ बिहार कल्याण के निदेशक दिलीप प्रसाद ने भी संबोधित किया. रैली की जगहों पर कई तरह के कैम्प भी लगाए गए थे, ताकि जरूरतमंद सेना के जवानों की समस्या का तुरंत निदान हो सके. रैली के बाद भी सेना के जवानों की समस्या को अधिकारियों ने सुनी. इनमें से कुछ के निपटारे मौके पर ही कर दिया वहीं, कुछ के निदान के लिए रास्ते बताए गए.

इस दौरान एक ऐसा मौका भी आया जब अधिकारी हक्के-बक्के रह गए. एक सैनिक ने बिहार में सेना को शराब देने की मांग की. वहां उपस्थित सेना के सभी रिटायर्ड जवान उनकी मांग के समर्थन में आ गए. अधिकारी को भी आखिरकार जवाब देना पड़ा.

शराब की मांग करनेवाले सैनिकों ने कहा कि जब यह सुविधा केंद्र की सरकार ने दे रखी है तो उसे बिहार सरकार कैसे रोक सकती है. साथ ही उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि सेना को शराब की जरूरत होती है. अगर अचानक शराब मिलनी बंद हो जाएगी, तो वह नकली शराब का सेवन करेगा. यह सेहत के लिए खतरनाक है. उन्होंने बिहार में शराबबंदी पर सवाल उठाते हुए कहा कि बिहार में खुलेआम शराब बिक रहा है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी पता है.