फेसबुक का प्यार मंडप तक पहुंचा... फिर भी बिन ब्याही रह गई दुल्हन

कटिहार के चंदन और जमशेदपुर की एक लड़की की दोस्ती फेसबुक पर हुई थी

फेसबुक का प्यार मंडप तक पहुंचा... फिर भी बिन ब्याही रह गई दुल्हन
परिजनों की मंजूरी से रखी गई थी शादी की तारीख, पहले हो चुकी थी मंगनी

कटिहार: सोशल मीडिया हमारे जीवन का अहम अंग बन चुका है. हमारी जिंदगी और रिश्तों पर भी इनका प्रभाव साफ नजर आता है. अक्सर ऐसी खबरें सामने आती रही हैं जिसमें फेसबुक के जरिए हुई दोस्ती बाद में प्यार और फिर शादी में बदल गई. एक ऐसा ही मामला बिहार के कटिहार से सामने आया लेकिन उसमें एक पेंच फंस गया. इस कहानी में प्रेमिका झारखण्ड की थी तो प्रेमी कटिहार का रहने वाला था. जानकारी के मुताबिक कटिहार के चंदन और जमशेदपुर की एक लड़की की दोस्ती फेसबुक पर हुई थी. दोस्ती जल्द ही प्यार में बदल गई. दोनों ने अपने परिजनों को यह बात बताई और उनकी शादी तय कर दी गई. लेकिन शादी के ऐन वक्त पहले पता चला कि लड़की अभी नाबालिग है जिस वजह से शादी रोकनी पड़ी.

प्यार पर पड़ा उम्र का पहरा
यही वजह है कि वहां मौजूद कुछ लोग यही कह रहे थे कि फेसबुक का प्यार शादी के मंडप तक पहुंचा लेकिन उम्र परिणय बंधन का दुश्मन बन बैठा. शादी के लिए मंदिर में पहुंची बारात बैरंग वापस लौट गई. विवाह के आखिर पल तक दुल्हन बालिग नहीं थी. दोनों पक्षों के लोगों की आपसी समझबूझ और पुलिस की पहल से बिन ब्याही दुल्हन वापस झारखंड लौट गई. समाज, परिजन और पुलिस की मध्यस्ता से विवाह पर रोक लगाई गई.

परिजनों की मंजूरी से हुई थी मंगनी रखी गई थी शादी की तारीख
बताया जा रहा है कि इस प्रेमी युगल ने जब अपने-अपने परिजनों से अपने प्यार का इजहार किया. तो लड़के के परिजनों ने बाकायदा लड़की को पसंद कर पूरे रस्मो-रिवाज के साथ मंगनी तक कर डाली थी. इसके साथ ही कटिहार के मंदिर कमेटी की मदद से शादी की तारीख भी तय कर डाली थी. लेकिन ठीक शादी से पहले लड़की के नाबालिग होने की खबर ने इस फेसबुकिया प्यार में खलल डाल दिया और शादी टूट गई.

अंत में बिना दुल्हन के ही वापस लौटी बारात
अंतिम क्षणों में कुछ ऐसा हुआ कि शादी का सपना संजोये बैठे दूल्हा और दुल्हन शादी के मंडप की जगह थाने तक जा पहुंचे. जहां समाज के लोग, परिजन और पुलिस ने लड़की के नाबालिग होने की खबर को सत्य पाया और शादी को रोक दिया गया. शादी टूटने के बाद बारात बिना दुल्हन के ही वापस चली गई. और बेचारा दूल्हा चंदन प्यार की पंचायत से मुंह लटका कर बैरंग वापस लौट पड़ा.