close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड: देवघर AIIMS के पहले एकेडमिक सत्र की हुई शुरुआत, पंचायत प्रशिक्षण केंद्र में होगा क्लास

देवघर पंचायत प्रशिक्षण केन्द्र के सभागार में 2019 शैक्षणिक सत्र की शुरुआत की गई. इसके साथ ही देवघर के एम्स में मेडिकल छात्रों की पढ़ाई की शुरुआत हो गई. 

झारखंड: देवघर AIIMS के पहले एकेडमिक सत्र की हुई शुरुआत, पंचायत प्रशिक्षण केंद्र में होगा क्लास
देवघर पंचायत प्रशिक्षण केन्द्र के सभागार में 2019 शैक्षणिक सत्र की शुरुआत की गई.

देवघर: झारखंड के देवघर स्थित एम्स के पहले एकेडमिक सत्र की शुरुआत हो गई है. देवघर पंचायत प्रशिक्षण केन्द्र के सभागार में 2019 शैक्षणिक सत्र की शुरुआत की गई. इसके साथ ही देवघर के एम्स में मेडिकल छात्रों की पढ़ाई की शुरुआत हो गई. 

पहले शैक्षणिक सत्र की शुरुआत पर खास आयोजित कार्यक्रम किया गया. पटना एम्स के डायरेक्टर पीके सिंह भी कार्यक्रम में शामिल हुए. इस मौके पर पटना एम्स के कई डॉक्टर और देवघर के सिविल सर्जन सहित देवघर डीडीसी भी मौजूद रहे. नए खुले देवघर एम्स के पहले सत्र में 50 सीटों पर मेडिकल छात्रों के लिए पढ़ाई की शुरुआत की जा रही है. देवघर एम्स के ओपीडी निर्माण के पहले अस्थाई तौर पर पंचायत प्रशिक्षण केंद्र में मेडिकल छात्रों की पढ़ाई कराई जाएगी. 

 

एम्स के पहले एकेडमिक सत्र में देश भर के 48 छात्र-छात्राओं का चयन किया गया है. देवघर एम्स की क्षमता 50 सीटों की है लेकिन पहले सत्र में 48 छात्रों का नामांकन किया गया है. इस मौके पर डायरेक्टर पीके सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जब तक देवघर एम्स का अपना भवन नहीं बन जाता है तब तक पंचायत प्रशिक्षण केंद्र में पढ़ाई कराई जाएगी. उन्होंने साथ ही कहा कि झारखंड में अन्य तीन एम्स में भी पढ़ाई शुरू कर दी गई है.  

पीके सिंह ने छात्रों के उज्जवल भविष्य के लिए बेहतर माहौल में देवघर में पढ़ाई कराए जाने का भरोसा भी दिया. उन्होंने कहा कि पहले वर्ष में सिर्फ थ्योरी की पढ़ाई होगी. अगले साल तक ओपीडी तैयार हो जाएगी. जिसके बाद छात्रों को वहां शिफ्ट कर दिया जाएगा और फिर वहां प्रैक्टिल प्रशिक्षण भी दिया जा सकेगा.

 इस मौके पर डीडीसी शैलेंद्र कुमार लाल ने कहा कि देश में एम्स की अपनी पहचान है और बाबा नगरी देवघर में एम्स के लिए पढ़ाई होना देवघर वासियों के लिए गर्व की बात है. 
--Shatakshi Swami, News Desk