चाईबासा: वन विभाग ने की छापेमारी, वाहन समेत 3 लाख की लकड़ी को किया जब्त

मालवाहक गाड़ी छोटानागरा से किरीबुरू की तरफ आ रही थी. इसी दौरान वन विभाग ने जब गाड़ी रोकी तो, वाहन चालक और खलासी भाग फरार हो गए. गाड़ी की जांच की गई तो उसमें बीजा लकड़ी के 180 पीस सिलपट बरामद किए गए.

चाईबासा: वन विभाग ने की छापेमारी, वाहन समेत 3 लाख की लकड़ी को किया जब्त
वन विभाग ने छापेमारी कर 3 लाख की लकड़ी को जब्त कर लिया.

चाईबासा: प्रशिक्षु आईएफएस अधिकारी अंकित कुमार सिंह के नेतृत्व में सारंडा के मनोहरपुर, गुआ, किरीबुरू एवं ओडिशा के बड़बिल रेंज के अधिकारियों व गार्ड ने संयुक्त रूप से मिलकर बीती रात लगभग 10 बजे से सुबह 6 बजे तक विशेष छापेमारी अभियान चलाया. इस दौरान वन विभाग और पुलिस ने किरीबुरू थाना क्षेत्र के सेडल में मालवाहक गाड़ी से भारी मात्रा में बीजा की लकड़ी बरामद कर वाहन समेत जब्त कर लिया.

जानकारी के अनुसार, मालवाहक गाड़ी छोटानागरा से किरीबुरू की तरफ आ रही थी. इसी दौरान वन विभाग ने जब गाड़ी रोकी तो, वाहन चालक और खलासी भाग फरार हो गए. गाड़ी की जांच की गई तो उसमें बीजा लकड़ी के 180 पीस सिलपट बरामद किए गए. इसकी कीमत करीब तीन लाख रुपए बताई जा रही है.

बताया जाता है कि छोटानागरा थाना क्षेत्र के सारंडा के जंगलों से लगातार ओडिशा के लकड़ी माफिया पेड़ों को कटवाकर उसे चीर कर पिकउप या छोटी-छोटी गाड़ियों से ओडिशा ले जाकर बेचने का काम करते हैं, क्योंकि इस रास्ते पर वन विभाग का कोई गेट नहीं पड़ता है.

इसके साथ ही यह माफियाओं के लिए सबसे सुरक्षित रास्ता माना जाता है. इसी रास्ते से वन विभाग ने लगातार पिछले 6 से 7 महीनों में अब तक तीन गाड़ियां पकड़ी हैं. इस छापेमारी में किरीबुरू रेंजर सुरेंद्र कुमार सिंह, गुआ रेंजर केपी सिन्हा, मनोहरपुर रेंजर विजय कुमार आदि मौजूद थे.