बिहार: राजभवन में कथा के जरिए हुई महात्मा गांधी के जीवन की प्रस्तुति, CM नीतीश भी रहे मौजूद

डॉ. शोभना राधाकृष्णा ने राजभवन के राजेंद्र मंडप में गांधी के जीवन की कथाओं और संगीत के माध्यम से प्रस्तुति दी. शोभना 145 देशों में गांधी जी के विचारों को कहानी के रूप में प्रस्तुत कर चुकी हैं.

बिहार: राजभवन में कथा के जरिए हुई महात्मा गांधी के जीवन की प्रस्तुति, CM नीतीश भी रहे मौजूद
राजभवन में गांधी कथा की प्रस्तुति.

पटना: राजभवन स्थित राजेंद्र मंडप में गांधी कथा की प्रस्तुति की गई. गांधी के जीवन को कथा के जरिए पेश करने के लिए डॉक्टर शोभना राधाकृष्ण को बुलाया गया था. कार्यक्रम में राज्यपाल फागू चौहान और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद रहे.

अब तक आपने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जीवन पर आधारित किताबें पढ़ी होंगी या फिर किसी विशेष आयोजनों पर भाषणों के माध्यम से सुना होगा. लेकिन पटना स्थित राजभवन में गांधी जी के जीवन पर आधारित कहानियों की प्रस्तुति की गई. यह प्रस्तुति ठीक उसी तरह से हुई, जिस तरह रामचरित मानस या फिर गीता की धार्मिक गुरू करते हैं.

डॉ. शोभना राधाकृष्णा ने राजभवन के राजेंद्र मंडप में गांधी के जीवन की कथाओं और संगीत के माध्यम से प्रस्तुति दी. शोभना 145 देशों में गांधी जी के विचारों को कहानी के रूप में प्रस्तुत कर चुकी हैं. पटना में भी उन्होंने गांधी के बिहार आगमन, चंपारण में नील किसानों से जुड़ी समस्याओं, भागलपुर दौरे को कहानी के माध्यम से प्रस्तुत किया. पटना यूनिवर्सिटी की तरफ से आयोजित इस कार्यक्रम में यहां की छात्राओं ने भी हिस्सा लिया और अपने अनुभव बांटे.

कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी भी शामिल हुए. उन्होंने पूरे ध्यान से डॉक्टर शोभना को सुना. शोभना के मुताबिक, गांधी जी यानी एक्शन यानी कर्म. बिहार तो क्रांति का अग्रदूत रहा है. गांधी जी ने भी एक तरह से विचारों की क्रांति बिहार से शुरू की और आज भी बिहार के युवाओं में यह क्षमता है.