close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जनसंख्या नियंत्रण को लेकर गिरिराज सिंह का विवादित ट्वीट, धर्म को बताया रुकावट

गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए सभी राजनीतिक दलों से आगे आने की वकालत की है.

जनसंख्या नियंत्रण को लेकर गिरिराज सिंह का विवादित ट्वीट, धर्म को बताया रुकावट
गिरिराज सिंह का विवादित बयान. (फाइल फोटो)

पटना/नयी दिल्ली : आज विश्व जनसंख्या दिवस है. अपने बयानों को लेकर सदैव सुर्खियों में रहने वाले केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने विवादित ट्वीट किया है. उन्होंने ट्वीट के जरिए यह बताया है कि देश 1947 की तरह एकबार फिर सांस्कृतिक विभाजन की तरफ बढ़ रहा है.

विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर किए गए ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है. जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक कारण है. हिंदुस्तान 47 की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है.'

गिरिराज सिंह ने जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए सभी राजनीतिक दलों से आगे आने की वकालत की है. गिरिराज सिंह के इस बयान के बाद राजनीति गरमाने की पुरजोर संभावना है.

इससे पहले भी गिरिराज सिंह जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर बयान दिया है. बाल ही में उन्होंने योग गुरु बाबा रामदेव के उस बयान का समर्थन किया था, जिसमें उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण कानून को जरूरी बताया था. गिरिराज सिंह ने कहा था कि जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाने को लेकर वह अभी भी अपनी राय पर कायम हैं. इस मुद्दे पर कानून की जरूरत है, जिससे कि देश के संसाधनों का समुचित इस्तेमाल किया जा सके.

ज्ञात हो कि बाबा रामदेव ने बढ़ती आबादी पर नियंत्रण के लिए कानून बनाने की पुरजोर वकालत की थी. बाबा रामदेव ने कहा कि अब कानून के जरिए ही आबादी पर लगाम लगाई जा सकेगी. दो बच्चों की नीति का समर्थन करते हुए बाबा रामदेव ने तीन प्वाइंट का एक फॉर्मूला सुझाया था.