close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

शादी को हुए थे 30 दिन, पति-पत्नी एक-दूसरे पर करने लगे थे शक, और फिर...

अररिया थाना क्षेत्र के कुसियारगांव स्थित जंगल से संदिग्ध हालात में नवविवाहिता की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है.

शादी को हुए थे 30 दिन, पति-पत्नी एक-दूसरे पर करने लगे थे शक, और फिर...

अररिया/रवि कुमार​: अररिया थाना क्षेत्र के कुसियारगांव स्थित जंगल से संदिग्ध हालात में नवविवाहिता की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. पुलिस के मुताबिक नवविवाहिता का हत्यारा उसका पति ही है. दरअसल कुछ दिन पहले नवविवाहिता(19 साल) अपने पति के साथ मायके से ससुराल जा रही थी. शादी को एक महिने ही हुए थे. लेकिन पति ने शक की वजह से पत्नी की हत्या कर दी. और शव को कुसियारगांव स्थित जंगल में फेंक दिया. अररिया एसपी धुरत सायिली ने बताया कि, घटना 20 तारीख शाम की है जब राजेश कुमार मंडल अपनी पत्नी चांदनी देवी को अररिया के साहसमल गांव से विदा कराकर शाम के वक्त अपने डिमिया गांव जा रहा था जो पूर्णिया में है तभी रास्ते में उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी.

ये जानकारी लड़की पक्ष वालों को दी कि पत्नी की हत्या उनके प्रेमियों ने यह कह कर कर दी थी कि तुम मेरी नहीं हुई तो किसी और की भी नहीं होगी. लेकिन पुलिस ने अपने जांच में उसके पति यानी राजेश को आरोपी पाया और पूछताछ के बाद पता चला कि राजेश ने ही अपने पत्नी का गला दबाकर हत्या किया और पेट में छुरा घोंप दिया था.

जिससे उसकी मौत हो गई . लड़की के परिवार वालों ने अररिया थाने में एफ आई आर दर्ज कराया था. जिसमें लड़के उसके पिता और को आरोपी बनाया था. जिसमें पुलिस ने राजेश और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया है. तीसरे की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है. वहीं एसपी ने बताया कि यह सब शक के परिणाम में हत्या हुई.

दरअसल पति पत्नी पर शक करता था और पत्नी पति पर शक करते थी. इसी कारण एक लड़की की जान चली गई और दूसरा जेल चला गया.