रांची: विधानसभा में प्रश्नकाल में उठा सीएम के कार्यक्रम में काले कपड़े उतरवाने का मुद्दा

रांची: विधानसभा में प्रश्नकाल में उठा सीएम के कार्यक्रम में काले कपड़े उतरवाने का मुद्दा

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है और सोमवार को प्रश्नकाल में विपक्ष ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यक्रम में काले कपड़े उतरवाने का मामला उठाया गया.

रांची: विधानसभा में प्रश्नकाल में उठा सीएम के कार्यक्रम में काले कपड़े उतरवाने का मुद्दा

रांची: झारखंड विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है और सोमवार को प्रश्नकाल में विपक्ष ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यक्रम में काले कपड़े उतरवाने का मामला उठाया गया. इस मुद्दे पर बीजेपी विधायक बिरंची नारायण ने जवाब देते हुए कहा है कि काले बुर्के में कौन है ये जानना सुरक्षा के लिहाज से जरूरी है. 

आपको बता दें कि गिरिडीह में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना जागरुकता समारोह में काला कपड़ा या काला स्टॉल ले रखा था उन्हें एंट्री गेट पर ही रोक दिया गया था. उन्हें काले कपड़े उतरवाने के बाद ही एंट्री दी गई थी. दरअसल जब से झारखंड स्थापना दिवस कार्यक्रम में काला झंडा दिखाया गया तब से सरकारी कार्यक्रम में काले कपड़ को बैन कर दिया गया है. 

वहीं, कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत ने सवाल किया कि राज्य सरकार ने भूख से मौत की क्या परिभाषा तय की है? क्या आपने इसे बनाया है? इस पर मंत्री अमर बाउरी ने कहा राजनीति करने के लिए कहते हैं भूख से मौत हुई , सामाजिक दायित्व क्यों नहीं निभाते

झारखंड विधानसभा में विधायक बिरंची नारायण ने पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग मांग उठाई, सरकार ने महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, हरियाणा पत्रकार सुरक्षा कानून की प्रति लाकर उसकी समीक्षा कर झारखंड में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने का आश्वाशन दिया.

Trending news