जेडीयू छोड़ ऋषि मिश्रा ने थामा कांग्रेस का दामन, कहा- नीतीश कुमार मेरे अभिभावक समान

पिछला चुनाव मैं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ चुनाव लड़ा था. मेरे विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने बीजेपी के खिलाफ वोट किया था. 

जेडीयू छोड़ ऋषि मिश्रा ने थामा कांग्रेस का दामन, कहा- नीतीश कुमार मेरे अभिभावक समान
ऋषि मिश्रा ने कांग्रेस ज्वॉइन किया. (तस्वीर- ANI)

पटना : पूर्व रेल मंत्री ललित नारायण मिश्रा के पोते और बिहार विधान परिषद के सदस्य और जाले से जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के पूर्व विधायक ऋषि मिश्राा ने कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया है. बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा की मौजूदगी में उन्होंने पार्टी ज्वॉइन किया. इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि ऋषि मिश्रा का कांग्रेस में आना ललित नारायण मिश्रा को सच्ची श्रद्धांजलि है.

वहीं, ऋषि मिश्राा ने कहा कि जेडीयू के साथ काम करना मेरे लिए मुश्किल हो गया था. पिछला चुनाव मैं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ चुनाव लड़ा था. मेरे विधानसभा क्षेत्र के लोगों ने बीजेपी के खिलाफ वोट किया था. ऐसे में मैं अपने मतदाताओं और समर्थकों को कैसे जवाब देता.

ऋषि मिश्रा ने कहा कि नीतीश कुमार मेरे अभिभावक समान हैं. मैं आज भी उनकी इज्जत करता हूं, लेकिन बीजेपी के साथ मैं काम नहीं कर सकता. बीजेपी देश और समाज तोड़ने वाली पार्टी है.

बिहार में जनता दल युनाइटेड (जेडीयू), लोजपा और बीजेपी गठबंधन की सरकार है. नवंबर 2015 में हुए विधानसभा चुनाव दोनों पार्टियों ने अलग-अलग लड़ा था. नतीजों के बाद महागठबंधन (आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस) की सरकार बनी थी, लेकिन 19 महीने बाद साझा सरकार चलाने के बाद नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंप दिया था.