झारखंड में जेडीयू को फिर झटका, महिला और युवा प्रदेश अध्यक्षों ने थामा कांग्रेस का हाथ

झारखंड जेडीयू की महिला और युवा जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष ने कांग्रेस से हाथ मिला लिया है.

झारखंड में जेडीयू को फिर झटका, महिला और युवा प्रदेश अध्यक्षों ने थामा कांग्रेस का हाथ
महिला और युवा जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस में शामिल.

रांचीः जनता दल यूनाइटेड (जडीयू) पार्टी को झारखंड में एक और बड़ा झटका लगा है. हाल ही में झारखंड के जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो ने इस्तीफा देकर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था. अब झारखंड में जेडीयू पार्टी को फिर एक झटका लगा है. अब दो और प्रदेश अध्यक्षों ने जेडीयू छोड़ कांग्रेस का दामन थाम लिया है.

दरअसल, महिला जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष विजय पांडेय ने पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल हो गई है. वहीं, युवा जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष पवन पांडेय ने भी कांग्रेस के साथ हाथ मिला लिया है. दोनों ने शनिवार को दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह के समक्ष कांग्रेस की अध्यक्षता ली.

इस दौरान हाल में जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल होने वाले जलेश्वर महतो भी मौजूद थे. माना जा रहा है कि जलेश्वर महतो के कोशिशों के बाद ही महिला प्रदेश अध्यक्ष और युवा प्रदेश अध्यक्ष को कांग्रेस में शामिल किया गया है.

इस मौके पर जेडीयू महिला प्रदेश अध्यक्ष रही विजय पांडेय ने कहा कि उनकी कांग्रेस में फिर से वापसी हुई है. वह पहले भी कांग्रेस में थी. वहीं, उन्होंने कहा कि उनका कांग्रेस में लौटने का कारण सम्मान है. उन्होंने कहा कि करीब 18 साल से जेडीयू पार्टी के साथ रही लेकिन उनका सम्मान घट रहा था. इसलिए सम्मान से वह समझौता नहीं कर सकती है.

वहीं, युवा जेडीयू प्रदेश अध्यक्ष रहे पवन पांडेय ने कहा कि उन्हें बीजेपी के साथ चलना अब मुश्किल है. बीजेपी में युवा को नकारा गया है. इसलिए कांग्रेस के साथ रहकर मैं अब काम करना चाहता हूं. उन्होंने कांग्रेस की तारीफ करते हुए कहा कि उनका और युवाओं का भविष्य अब उन्हें कांग्रेस में दिख रहा है.

वहीं, प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि उन्हें काफी खुशी है कि यह सभी कांग्रेस के साथ हैं. उन्होंने कहा कि यह विचारधारा की लड़ाई है. जो बीजेपी के विचारधारा से नहीं मेल खाता वह उनके साथ कैसे रह सकता है.