जीतनराम मांझी ने की लालू को जमानत देने की वकालत, कहा- दूसरे नेताओं को मिली लेकिन...

रिम्स में लालू प्रसाद यादव का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने इस बात की जानकारी दी है कि उनकी किडनी केवल 37 फ़ीसदी ही काम कर रही है. 

जीतनराम मांझी ने की लालू को जमानत देने की वकालत, कहा- दूसरे नेताओं को मिली लेकिन...
लालू यादव की बिगड़ती सेहत को लेकर मांझी ने अदालत से आरजेडी अध्यक्ष को जमानत पर रिहा करने की गुहार लगाई है.

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने रविवार को आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को जमात देने की वकालत की. साथ ही जीतनराम मांझी ने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद यादव का रिम्स में सही से इलाज नहीं कराया जा रहा है. मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद यादव की तबीयत पहले से ज्यादा खराब हो गई है. यादव इलाज करा रहे हैं लेकिन, उनकी किडनी ने काम करना कम कर दिया है.

जीतनराम मांझी ने दलील देते हुए कहा कि जिस व्यक्ति की किडनी महज 37 फीसदी काम कर रही हो, जो ब्लडप्रेशर का मरीज हो, उसका सही से इलाज नहीं होना, यह साबित करता है कि उनके जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. इतना ही नहीं लालू यादव की बिगड़ती सेहत को लेकर मांझी ने अदालत से आरजेडी अध्यक्ष को जमानत पर रिहा करने की गुहार लगाई है. मांझी ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जगन्नाथ मिश्रा चारा घोटाले में सजायाफ्ता थे, लेकिन खराब तबीयत के कारण उन्हें भी जमानत दी गई. ऐसे में अगर लालू यादव को जमानत नहीं मिलती है, तो फिर यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण होगा. 

 

गौरतलब हो कि रिम्स में लालू प्रसाद यादव का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने इस बात की जानकारी दी है कि उनकी किडनी केवल 37 फ़ीसदी ही काम कर रही है. नेता प्रतिपक्ष और लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी ने शनिवार को उनसे मुलाकात की थी. अपने पिता से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव भी उनकी सेहत को लेकर परेशान दिखे थे. यही कारण है कि अब सहयोगी भी लालू यादव की रिहाई के लिए गुहार लगा रहे है.