झारखंड: हेमंत सोरेन ने BJP पर लगाया प्रचार में खलल डालने का आरोप, बताया सोची समझी साजिश

 हेमंत सोरेन हेलीकॉप्टर से तमाड़ में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे. लेकिन प्रधानमंत्री की खूंटी और जमशेदपुर की रैली की वजह से हेमंत सोरेन के हेलीकॉप्टर को प्रोटोकोल के तहत उड़ने की परमिशन नहीं दी गई .

झारखंड: हेमंत सोरेन ने BJP पर लगाया प्रचार में खलल डालने का आरोप, बताया सोची समझी साजिश
जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के हेलीकॉप्टर को करीब डेढ़ घंटे तक उड़ने से रोक दिया गया.

रांची : मंगलवार को राजधानी रांची के पास तमाड़ में जेएमएम के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के हेलीकॉप्टर को करीब डेढ़ घंटे तक उड़ने से रोक दिया गया. दरअसल हेमंत सोरेन हेलीकॉप्टर से तमाड़ में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे. लेकिन प्रधानमंत्री की खूंटी और जमशेदपुर की रैली की वजह से हेमंत सोरेन के हेलीकॉप्टर को प्रोटोकोल के तहत उड़ने की परमिशन नहीं दी गई .

लेकिन इस दौरान अपने हेलीकॉप्टर के उड़ान भरने की इजाज़त का इंतजार कर रहे हेमंत सोरेन भड़क गए. उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये बीजेपी की सोची-समझी साजिश है. हेमंत सोरेन ने आरोप लगाया कि जानबूझकर प्रधानमंत्री का दौरा ऐसे तय किया जाता है, जिससे अन्य पार्टियों के चुनाव प्रचार में बाधा पहुंचे. सोरेन ने अपनी नाराज़गी जताते हुए कहा कि ये माना कि प्रधानमंत्री का प्रोटोकाल होता है, लेकिन जो भी मेरा चुनावी कार्यक्रम रद्द होगा, उसके लिए बीजेपी और प्रधानमंत्री जिम्मेदार होंगे 

Hemant soren

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बोले कि मेरी कई जगहों पर चुनावी सभा थी, और वहां लोग मेरे इंतजार में आक्रोशित हो रहे हैं. अगर हम जबरन हेलीकॉप्टर को उड़ाते हैं तो हेलीकॉप्टर को भी थाने में सीज कर लिया जाएगा और पायलट के लाइसेंस को रद्द कर दिया जाएगा.

वहीं, तमाड़ के बाद हेमंत सोरेन की सिसई में भी जनसभा आयोजित की गई थी लेकिन हेलीकॉप्टर को उड़ान भरने की इजाज़त नहीं देने के कारण उनका कार्यकम प्रभावित हो गया. पूरे घटनाक्रम पर नाराज़गी जताते हुए जेएमएम के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने आपत्ति जताते हुए कहा कि वीआईपी मूवमेंट के नाम पर खेल खेला जा रहा है. 
साथ ही उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान अर्जुन मुंडा की जीत को मैनेज किया गया था. उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी स्टार प्रचारक के तौर पर झारखंड पहुंचे थे, न कि पीएम के तौर पर.

प्रदेश में पांच चरणों में हो रहे चुनाव के दौरान दूसरे दौर में मुख्यमंत्री रघुवर दास भी जमशेदपुर पूर्व से चुनाव मैदान में हैं. यही वजह है कि बीजपी और विपक्षी दल इस दौर के प्रचार में एक-दूसरे पर हमले का कोई मौका गंवाना नहीं चाह रहे हैं.
Ravinder singh, News Desk