लालू यादव के करीबी वकील चितरंजन सिन्हा का निधन, कोर्ट में हमेशा रहते थे RJD सुप्रीमो के साथ

 चारा घोटाला मामले सहित अन्य मुकदमों में लालू यादव के वकील रहे चितरंजन सिन्हा का 74 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने बेंगलुरू के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. ये निश्चित रूप से लालू यादव के लिए निराशा भरी खबर है.  

लालू यादव के करीबी वकील चितरंजन सिन्हा का निधन, कोर्ट में हमेशा रहते थे RJD सुप्रीमो के साथ
लालू प्रसाद के बेहद करीबी वकील चितरंजन सिन्हा का निधन हो गया है. (फाइल फोटो)

रांची: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेहद करीबी वकील चितरंजन सिन्हा का निधन हो गया है. चारा घोटाला मामले सहित अन्य मुकदमों में लालू यादव के वकील रहे चितरंजन सिन्हा का 74 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने बेंगलुरू के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. ये निश्चित रूप से लालू यादव के लिए निराशा भरी खबर है.

बिहार सरकार के प्रधान अपर महाधिवक्ता चितरंजन सिन्हा पटना हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकीलों में गिने जाते थे. कानूनी जानकार के तौर पर उनकी बड़ी प्रतिष्ठा थी और चारा घोटाले के कई मामलों में लालू के वकील होने के कारण वह चर्चित रहे. चितरंजन सिन्हा ने पटना के अलावे रांची और दिल्ली तक लालू यादव के मुकदमों को देखा. बिहार में आरजेडी गठबंधन की सरकार के दौरान उनको प्रधान अपर महाधिवक्ता नियुक्त किया गया था और अभी भी उस पद पर वह बने हुए थे.

लालू यादव की सुनवाई के दौरान चितरंजन सिन्हा रहते थे कोर्ट में मौजूद
चारा घोटाले से संबंधित विभिन्न मामलों को लेकर राजधानी रांची के सिविल कोर्ट में लगातार सुनवाई का दौर चलता था और जब भी लालू यादव को कोर्ट में सशरीर उपस्थित होना होता था तो सुनवाई के दौरान चितरंजन सिन्हा कोर्ट में जरूर मौजूद रहते थे.

उनके निधन की खबर से पूरे न्यायिक जगत में शोक की लहर दौड़ गई है. लालू यादव के अन्य वकील प्रभात कुमार देबार्सी मंडल, अनंत कुमार विज़ सहित रांची के तमाम अधिवक्ताओं ने शोक व्यक्त किया है