CM नीतीश को मिला लोजपा नेता का साथ, सरकार पर सवाल उठाने वाले BJP सांसदों को घेरा

बिहार सरकार के लिए दिक्कत तब और बढ़ गयी जब विरोधियों के साथ-साथ अपनों ने भी सरकार को ही निशाने पर ले लिया.

CM नीतीश को मिला लोजपा नेता का साथ, सरकार पर सवाल उठाने वाले BJP सांसदों को घेरा
रामचंद्र पासवान लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान के भाई हैं. (फाइल फोटो)

आशिफ एकबाल, नई दिल्ली : लगातार चिंताजनक बनी हुई बिहार की कानून व्यवस्था पर सहयोगी दल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कई सांसदों ने नीतीश सरकार पर उंगली उठाने लगे थे. पहले राज्यसभा सांसद गोपाल नारायण सिंह उसके बाद सीपी ठाकुर और फिर छेदी पासवान ने कानून व्यवस्था के मसले पर बिहार सरकार को कटघरे में खड़ा किया. 

हाल के दिनों में जिस तरीके से बिहार में आपराधिक घटनाओं में बढ़ोतरी हुई, यह कानून व्यवस्था के लिए चिंताजनक है. इसमें कोई दो राय नहीं है. लेकिन बिहार सरकार के लिए दिक्कत तब और बढ़ गयी जब विरोधियों के साथ-साथ अपनों ने भी सरकार को ही निशाने पर ले लिया.

आज बिहार सरकार और खास तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एनडीए में सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) नेता और रामविलास पासवान के सांसद भाई रामचंद्र पासवान का साथ मिला है. उन्होंने कहा कि आज जो लोग सरकार और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रहे हैं, उन्हें कानून व्यवस्था की नहीं बल्कि लोकसभा टिकट ना कटे इसकी चिंता है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को निजी स्वार्थ पूरे हो जाएं बस इसकी चिंता है.

रामचंद्र पासवान यहीं नहीं रुके. उन्होंने आगे कहा कि जो लोग आज सवाल कर रहे हैं, क्या उन्हें मालूम है कि दस साल पहले का बिहार कैसा था? लोगों को घर से रात में निकलने में डर लगता था. सुबह बाहर काम के लिए जाते थे तो रात में सकुशल लौट आएं इसके लिए घरवाले दुआ मांगते थे. वह दिन भला कोई कैसे भूल सकता है. उन्होंने कहा कि निजी स्वार्थ को ऊपर रखते हूए कुछ लोग विपक्ष के सुर में सुर मिलाने लगते हैं, जो सरासर गलत है. उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री सबकी राय लेते हैं. विचारों का सम्मान भी करते हैं.