सात समंदर पार नॉर्थ अमेरिका में भी हुआ विद्यापति पर्व समारोह का आयोजन

नॉर्थ अमेरिका में पहली बार विद्यापति पर्व समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम, लेक्चर और मिथिला से जुड़े विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन किया गया. 

सात समंदर पार नॉर्थ अमेरिका में भी हुआ विद्यापति पर्व समारोह का आयोजन
नार्थ अमेरिका में विद्यापति पर्व समारोह का आयोजन.

बीते 14 दिसंबर को सात समंदर पार अमेरिका में धूमधाम से विद्यापति पर्व समारोह मनाया गया. 'मैथिल ऑफ नाक्थ अमेरिका' और 'एसोसिएशन ऑफ नेपाल तराई इन अमेरिका' के संयुक्त प्रयास से इस स्मृति पर्व का आयोजन किया गया. 

नॉर्थ अमेरिका में पहली बार विद्यापति पर्व समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम, लेक्चर और मिथिला से जुड़े विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन किया गया. मैथिली संगीत और व्यंग्य ने लोगों का खूब मनोरंज किया. इस दौरान माछ-भात (मछली-चावल), डलना (सब्जी) सहित कई मैथिल पकवान भी बनाए गए. 

नेपाल के रहने वाले धीरेंद्र प्रेमर्शी और उनकी पत्नी रूपा झा ने मैथिली गानों पर अपनी प्रस्तुती दी. इस दौरान कई अन्य लोगों ने विद्यापति गीत और अन्य कलाओं का प्रदर्शन किया. सुधा झा, अपराजिता झा, गौरी पांडेय, शैली झा, मीनाक्षी मिश्रा. पुष्पा मिश्रा, श्रवण झा और आर्या झा ने अपने गानों से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया. इस समारोह में प्रभा झा भी शामिल हुईं, जो वहां मैथिल समुदाय का नेतृत्व करती है.

विद्यापति पर्व समारोह के दौरान उनकी जीवनी पर बच्चों के लिए क्विज का भी आयोजन किया गया, जिसमें बच्चों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. इस समारोह में भारत और नेपाल के कई लोग शामिल हुए. इनमें आलोक कुमार, विजय सिंह, मुकेश कर्ण, अनिल द्विवेदी प्रमुख थे. 

हेमकांत मिश्रा को बीते दो दशक से नॉर्थ अमेरिका में मिथिला की संस्कृति और सभ्यता को बढ़ावा देने के लिए पहले मिथिला रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया. उनकी पत्नी विद्या मिश्रा के यह पुरस्कार सौंपा गया.