close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे वाहन फूंके, गिरफ्तारी के लिए छापेमारी

गया के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजीव मिश्रा ने शुक्रवार को बताया कि छकरबंधा थाना क्षेत्र में भैसा दोहर गांव के समीप गुरुवार शाम हथियार बंद नक्सलियों ने दो वाहनों में आग लगा दी.

बिहार में नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे वाहन फूंके, गिरफ्तारी के लिए छापेमारी
नक्सलियों ने फूंके वाहन. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गया : केन्द्र सरकार नक्सलियों को नेस्तनाबूद करने के लिए वचबद्ध है. उनपर जोरदार वार भी किया जाता रहा है. इससे नक्सलियों के पैर उखड़ने लगे हैं. नक्सली अस्तित्व बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं. लेकिन, अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के लिए नक्सली कभी-कभार छोटी-मोटी घटनाओं को अंजाम भी देते हैं. ऐसी ही एक घटना को नक्सलियों ने गया में अंजाम दिया है. भाकपा माओवादी के नक्सलियों ने गुरुवार को जिले के छकरबंधा थाना के भैसादोहर गांव के नजदीक सड़क निर्माण में लगे एक पोकलैंड और एक हाइवा को आग के हवाले कर दिया. 

दरअसल, मैगरा से भैसादोहर तक दस किलोमीटर लंबी सड़क बन रही है. सड़क निर्माण में लगी कंपनी से नक्सलियों ने लेवी की मांग की थी. इसके लिए एक समय भी दिया था. लेकिन जब लेवी नहीं दी गयी तो गुरुवार की दोपहर लगभग तीन बजे सात- आठ हथियारबंद नक्सली मौके पर पहुंचे और एक पोकलैंड और हाइवा के ड्राइवरों को हथियार के दम पर अपने कब्जे में ले लिया.

जेसीबी के ड्राइवर चंदन कुमार ने बताया कि नक्सलियों ने उन्हें गाड़ी से उतार कर गोली मारने की धमकी दी. उन्हें गाड़ी छोड़कर चले जाने का आदेश दिया गया. ड्राइवरों के गाड़ी से उतरने के बाद दोनों गाड़ियों में आग लगा दी . गाड़ियों में आग लगाने की घटना को अंजाम देने के बाद नक्सली नारा लगाते हुए जंगल की ओर चले गए. आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि नक्सलियों ने तीन राउंड फायरिंग भी की.

निर्माण कार्य में लगे एक कर्मी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया कि बीते 20 सितंबर लेवी जमा करने के लिए नक्सलियों ने कहा था. समय पर राशि नहीं मिलने से नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया. हालांकि गाड़ी में आग लगाने के अलावा किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया.

लाइव टीवी देखें-:

घटना की जानकारी के बाद छकरबंधा में कैम्प कर रही सीआरपीएफ की ई 159वीं बटालियन और छकरबंधा थाने की पुलिस घटना स्थल पर पहुंची. घटना को अंजाम देने वाले नक्सलियों की तलाश के लिए अभियान चलाया गया है. यह इलाका नक्सलियों के प्रभाव वाला माना जाता है. इसी को देखते हुए यहां सीआरपीएफ का कैंप भी बनाया गया है. 

-- Dharmendra Mani Rajesh, News Desk