झारखंड में दिख रहा भारत बंद का मिला-जुला असर, सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम

 कांग्रेस द्वारा आह्वान किए गए बंद का झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), झारखंड विकास मोर्चा-प्रजातंत्रिक और वामपंथी दलों ने समर्थन किया है.  

झारखंड में दिख रहा भारत बंद का मिला-जुला असर, सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम
भारत बंद का सोमवार को झारखंड में मिला-जुला असर देखने को मिल रहा है.

जमशेदपुर: तेल की बढ़ी कीमतों को लेकर कांग्रेस द्वारा बुलाए और कई पार्टियों द्वारा समर्थित 'भारत बंद' का सोमवार को झारखंड में मिला-जुला असर देखने को मिल रहा. कांग्रेस द्वारा आह्वान किए गए  भारत बंद का झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), झारखंड विकास मोर्चा-प्रजातंत्रिक और वामपंथी दलों ने समर्थन किया है.

रांची में भी बंद का मिलाजुला असर दिख रहा है. यहां स्कूल और कुछ दुकानें बंद हैं. हालांकि लंबी दूरी की बसें नहीं चल रही हैं और जिला प्रशासन ने निषेधाज्ञा लागू कर दी है. गिरिडीह जिले में वामपंथी दलों के बंद समर्थकों ने सिमरदीह में जीटी रोड जाम कर दिया है. लगभग दो घंटों के बाद पुलिस ने जाम हटाया तब जाकर लोगों को राहत मिली. 

हजारीबाग और जमशेदपुर जिलों में भी बंद का प्रभाव दिखाई दे रहा है. राज्य में बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है क्योंकि कांग्रेस, झामुमो और अन्य विपक्षी दलों के समर्थक सड़कों पर उतरे हुए हैं. आम जनता पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ हैं लेकिन बंद के खिलाफ भी है.

रांची के निवासी संतोष कुमार ने कहा, 'पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के चलते घरेलू बजट में हमें परेशानी का समना करना पड़ रहा है लेकिन बंद इसका रास्ता नहीं है.' इस बंद को 20 विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त हुआ है. विपक्ष के इस बंद के विरोध में झारखंड की राजधानी रांची में दुकानदारों ने अपनी दुकानें खोली हैं. दुकान पर बंद के विरोध में पोस्टर भी लगाए. पोस्टर पर लिखा था 'मैं हूं मोदीजी के साथ'.

भारत बंद

झारखंड की राजधानी रांची के रेलवे स्टेशन के नजदीक पटेल चौक के पास बंद का खासा असर नहीं दिखा. सड़कों पर आवागमन जारी है. दुकानें खुली हैं. दुकानदार अपने दुकान पर पोस्टर लगाए हुए हैं. पोस्टर पर लिखा है, 'मैं हूं मोदीजी के साथ'. दुकानदारों का कहना है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद मोदी के काम से खुश हैं. उन्होंने भारत बंद को विपक्ष का ड्रामा बताया.