close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोकामा शेल्टर होम कांड: गायब हुईं 7 लड़कियों में से 6 को पुलिस ने खोज निकाला, तलाश जारी

घटना की जानकारी मिलने पर पटना के डीएम, डीआईजी, एसएसपी, निदेशक सामाजिक सुरक्षा निदेशालय शेल्टर होम पहुंचे थे.

मोकामा शेल्टर होम कांड: गायब हुईं 7 लड़कियों में से 6 को पुलिस ने खोज निकाला, तलाश जारी
फाइल फोटो

पटनाः मोकामा शेल्टर होम से गायब हुई 7 लड़कियों में से 6 को पुलिस ने खोज निकाला है. इनमें से 5 लड़कियां मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस की पीड़िता हैं. वहीं, लड़ियों के गायब होने की घटना से सरकार और पुलिस प्रसाशन की शाख पर सवाल खड़े हो गए हैं. इस मामले पर निदेशक सामाजिक सुरक्षा निदेशालय ने दावा किया कि लड़कियां घर जाने की लगातार जिद कर रहीं थी. लेकिन, मामला कोर्ट में होने के कारण उन्हें नही छोड़ा जा सकता था, जिसके कारण वो भाग निकली थीं.

वहीं, घटना की जानकारी मिलने पर पटना के डीएम, डीआईजी, एसएसपी, निदेशक सामाजिक सुरक्षा निदेशालय शेल्टर होम पहुंचे थे. घटना की पड़ताल के लिए सीआईडी की 3 सदस्यीय टीम के साथ डॉग स्क्वाड और फोरेंसिक की टीम भी पहुंची थी. सीआईडी की टीम ने शेल्टर होम के आसपास लगे सीसीटीवी भी खंगाले गए. घटनास्थल पर पहुंचे एसपी (ग्रामीण) संजय कुमार सिंह ने बताया था कि लड़कियां शनिवार की सुबह 3 बजे के आसपास भागी थी. जिस जगह से लड़कियां भागी हैं वहां के गेट को टेड़ा किया गया था. वहीं, पटना के डीएम कुमार रवि ने कहा कि लड़कियों के भागने के मामले में मिसिंग रिपोर्ट दर्ज का जांच की जा रही है.

इधर पूरे मामले की तफ्तीश करने पहुंचे निदेशक सामाजिक सुरक्षा निदेशालय ने कई खुलासे किये. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि जो लड़कियां भागी हैं उनमें मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की 5 लड़कियां थीं. लड़कियां लगातार घर जाने की जिद्द कर रही थीं. मामला कोर्ट में है इसलिए हम उन्हें नही जाने दे सकते थे. लड़कियों के परिवार वालो के संपर्क में हम बने हुए हैं. स्थानीय पुलिस परिवार वालों के संपर्क में है. घटना के बाद नजारत शेल्टर होम की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. अतिरिक्त महिला सुरक्षाकर्मी शेल्टर होम पर नियुक्त किये गए हैं. पुलिस और समाज कल्याण विभाग की टीम का दावा है कि बची हुई लड़की को भी खोज निकाला जाएगा. सभी पुलिस स्टेशन और रेलवे व बस स्टैंड पर लड़कियों की तस्वीर को भेज दिया गया था.