नीतीश सरकार कोरोना जांच में आंकड़ों का खतरनाक गेम खेल रही है: तेजस्वी यादव

आरजेडी नेता ने लिखा, '‪फिर आगाह कर रहे हैं कि अपनी विफलताएं छिपाने के लिए लोगों की जान के साथ मत खेलिए.‬ देश जान चुका है बिहार के अस्पतालों में मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है.'

नीतीश सरकार कोरोना जांच में आंकड़ों का खतरनाक गेम खेल रही है: तेजस्वी यादव
नीतीश सरकार कोरोना जांच में आंकड़ों का खतरनाक गेम खेल रही है: तेजस्वी यादव.

पटना: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) बिहार में कोरोना वायरस (Coronavirus) टेस्टिंग को लेकर लगातार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार पर हमलावर हैं. इसी क्रम में तेजस्वी यादव ने रविवार को कहा कि, बिहार सरकार कोरोना जांच में आंकड़ों का खतरनाक गेम खेल रही है.‬

‪तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, 'लगभग 5 महीनों बाद भी अब टेस्ट संख्या बढ़ाने के लिए ये Anti-gen टेस्ट बढ़ा रहे है और RT-PCR टेस्ट नाम मात्र के कर रहे हैं.‬ Anti-Gen टेस्ट में जांच की सटीकता का सही पता नहीं लगता. अगर संक्रमण की वास्तविक स्थिति को जांचना है तो RT-PCR टेस्ट की संख्या बढ़ानी होगी.'

आरजेडी नेता ने आगे लिखा, '‪फिर आगाह कर रहे हैं कि अपनी विफलताएं छिपाने के लिए लोगों की जान के साथ मत खेलिए.‬ देश जान चुका है बिहार के अस्पतालों में मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है.' दरअसल, बिहार में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है.

वहीं, विपक्ष लगातार कोरोना टेस्टिंग को लेकर बिहार सरकार पर निशाना साध रहा है. विपक्ष का आरोप है कि, बिहार सरकार कोरोना की रोकथाम और व्यवस्था के मोर्चे पर पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है. जबकि सत्तापक्ष का आरोप है कि, तेजस्वी सहित तमाम विपक्षी नेता कोरोना के मुद्दे पर बिना वजह राजनीति कर रहे हैं.

सत्तापक्ष का कहना है कि, सरकार कोरोना के मोर्चे पर मुस्तैदी से काम कर रही है. सीएम खुद पूरी स्थिति की मॉनिटरिंग कर रहे हैं और लगातार अधिकारियों को निर्देशित कर जांच का दायरा बढ़ाने को कह रहे हैं. विपक्ष को कोरोना पर राजनीति करने से परहेज करना चाहिए.