बिहार: CM नीतीश की अधिकारियों को चेतावनी, कहा- लापरवाही करने पर होगी कार्रवाई

सीएम ने कहा कि सड़को के मेंटेनेंस का काम अब लोक शिकायत निवारण कानून के तहत ला दिया गया है. साथ ही अगर सड़क निर्माण में लापरवाही हुई तो अधिकारी हों या ठेकेदार, उन पर कार्रवाई होगी.

बिहार: CM नीतीश की अधिकारियों को चेतावनी, कहा- लापरवाही करने पर होगी कार्रवाई
सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को चेतावनी दी.

पटना: बिहार की राजधानी पटना में इंडियन रोड कांग्रेस के 80वें अधिवेशन की शुरुआत हो गई. इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया. इस दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि 10 साल के बाद दोबारा हमारे कार्यकाल में आईआरसी (IRC) पटना में हो रहा है. साथ ही लोगों को बदलाव महसूस हो रहा ये खुशी की बात है. 

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमने राज्य के किसी भी कोने से पटना पहुंचने का लक्ष्य 5 घंटे रखा है. इसको लेकर सड़कों को चौड़ा किया जा रहा है. साथ ही पुल का निर्माण भी किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि हमार लक्ष्य हर घर को पक्की सड़क से जोड़ा जाए. साथ ही हर टोले को पक्की सड़क से अगले साल तक जोड़ने का काम पूरा हो जाएगा. सीएम ने कहा कि हमें अपना सारा काम चुनाव से पहले अगस्त तक करना है.

नीतीश कुमार ने कहा कि सड़कों के मेंटेनेंस की पॉलिसी अब 5 सालों की बजाए 7 सालों की होगी. उन्होंने कहा कि सड़को के मेंटेनेंस का काम अब लोक शिकायत निवारण कानून के तहत ला दिया गया है. साथ ही अगर सड़क निर्माण में लापरवाही हुई तो अधिकारी हों या ठेकेदार, उन पर कार्रवाई होगी.

सीएम ने कहा कि पहले की तुलना बैंक से लोन मिलना आसान नहीं है. पहले ठेकेदार सड़क निर्माण के नाम पर पैसे लेकर दूसरे जगह लगा लेते थे. लेकिन अब ये इतना आसान नहीं है. इसलिए हमारे इंजीनियर को अब मेंटेनेंस पॉलिसी में खुद को भी शामिल करना होगा.

उन्होंने कहा कि बिहार सरकार 3 चीजों से समझौता नहीं करेगी. सीएम ने कहा कि हमारी सरकार- क्वालिटी, टाइम और मेंटेनेंस से समझौता नहीं करेगी. इसके साथ ही सड़कों के किनारे पेड़ लगाए जाएंगे. इसमें ग्रामीण सड़कों भी शामिल हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि पहले की तुलना में अब बिहार में एक्सीडेंट कम होता है क्योंकि राज्य में शराबबंदी कानून लागू है. सीएम नीतीश ने पथ निर्माण विभाग के सचिव को चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि हम गड़बड़ करने वाले को अंदर करवाकर छोड़ेंगे.

उन्होंने कहा कि हम सब जगह घूम रहे हैं. सड़क देख रहे हैं. सड़कों की फोटो भी खिंचवा रहे हैं. गड़बड़ी करने वाले को छोड़ेंगे नहीं. वहीं, सुशील मोदी ने कहा कि हमें आईआरसी से उम्मीद है कि बिहार में बाढ़ के कारण होने वाले सड़क नुकसान पर विशेष चर्चा होगी.