झारखंड: कोयला के अवैध खनन रोकने के लिए की जाएगी पेट्रोलिंग, उपायुक्त ने अधिकारियों को दिए निर्देश

बता दें कि नाला के इन इलाकों में बंद पड़े ईसीएल के खदानों में ग्रामीणों द्वारा लगातार कोयले का खनन किया जाता है और चाल धसने की घटनाएं भी घटती है. जिससे लोगों के मरने की भी आशंका बनी रहती है.

झारखंड: कोयला के अवैध खनन रोकने के लिए की जाएगी पेट्रोलिंग, उपायुक्त ने अधिकारियों को दिए निर्देश
कोयला के अवैध खनन रोकने के लिए की जाएगी पेट्रोलिंग.

जामताड़ा: झारखंड के जामताड़ा में कोयला के अवैध खनन को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है. इसको लेकर जिला उपायुक्त ने टास्क फोर्स की बैठक कर विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों को आवश्यक कार्रवाही करने का निर्देश दिया है.

इस बैठक में जिला खनन पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक, अनुमंडल पुलिस उपाधीक्षक, वन पदाधिकारी समेत तमाम थाना प्रभारी उपस्थित थे. इसमें निर्णय लिया गया कि जामताड़ा जिले के नाला थाना क्षेत्र के खड़ीमाटी, छोटारामपुर, परिहारपुर और कास्ता में कोयले के अवैध खनन को रोकने के लिए लगातार पेट्रोलिंग की जाएगी तथा अवैध उत्खनन करने वालों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा.

बता दें कि नाला के इन इलाकों में बंद पड़े ईसीएल के खदानों में ग्रामीणों द्वारा लगातार कोयले का खनन किया जाता है और चाल धसने की घटनाएं भी घटती है. जिससे लोगों के मरने की भी आशंका बनी रहती है. जिला प्रशासन ने यह निर्णय इन इलाकों में अवैध कोयले के कारोबार को रोकने के लिए लिया है.

वहीं, जिले के उपायुक्त गणेश कुमार ने कहा कि खनन से जुड़े विभिन्न विभागों को इलाके में सक्रिय रहने का निर्देश दिया गया है.