झारखंड: नए साल के जश्न के लिए नेतरहाट बना पहली पंसद, प्रशासन ने बढ़ाई सुविधा

यहां पर्यटक बिना किसी डर के आ रहे हैं. यहां से नक्सलियों को बाहर किए जाने से पर्यटको काफी खुश हैं. वहीं, पर्यटकों की माने तो यहां का अनुपम दृश्य लोगों को काफी भाया है.

झारखंड: नए साल के जश्न के लिए नेतरहाट बना पहली पंसद, प्रशासन ने बढ़ाई सुविधा
पर्यटक नेतरहाट में सुंदरता के अद्भुत नजारे का लुफ्त उठा रहे हैं.

लातेहार: खूबसूरती और मनमोहक देश-विदेश के पर्यटको के दिल पर राज करने वाली नेतरहाट नए वर्षो के पहले गुलजार होने लग गया है. यहां पर पर्यटकों का आना भी शुरू हो गया है. इसको लेकर जिला प्रशासन ने पर्यटकों की सुविधा और बढ़ा दी है. पर्यटक प्राकृतिक और ईश्वर के वरदान के रूप में मिले नेतरहाट में सुंदरता के अद्भुत नजारे का लुफ्त उठा रहे हैं.

जानकारों के मुताबिक यहां अंग्रेजों के शाशनकाल में अंग्रेजी हुकूमत की यह राजधानी मानी जाती थी. यहां सबसे बड़ी चीज है सूर्य को निकलने और अस्त होने का अद्भुत नजारा. ये पर्यटको को बहुत भाता है. वहीं, स्थानीय पर्यटकों का कहना है कि पिछले तीन वर्षो के दौरान सरकार ने पुलिस और सीआरपीएफ की मदद से नक्सलियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया.

इसके बाद से अब यहां पर्यटक बिना किसी डर के आ रहे हैं. यहां से नक्सलियों को बाहर किए जाने से पर्यटको काफी खुश हैं. वहीं, पर्यटकों की माने तो यहां का अनुपम दृश्य लोगों को काफी भाया है.

गौरतलब है कि नेतरहाट में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है और पारा माइनस शून्य डिग्री है. ऐसे में यहां पर पर्यटकों का हुजूम भी चरम पर है. वहीं, भीड़ होने के कारण नए वर्ष में पर्यटकों को होटल नहीं मिलने के कारण निराशा भी हो रही है.

होटल मालिकों का कहना है नेतरहाट का तापमान माइनस 0 डिग्री होने के बावजूद भी पर्यटक आ रहे हैं. वहीं, इस क्षेत्र को और विकसित करने के बारे में जब लातेहार डीसी जीशान कमर से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यहां पर्यटकों के लिए पूरी व्यवस्था दी गई है. पिछले वर्ष से इस बार ज्यादा पर्यटकों के आने की उम्मीद है.

उन्होंने कहा कि इस वर्ष 1 लाख से ज्यादा पर्यटक यहां आए थे और नए वर्ष को मनाया था. यहां पर्यटकों की सुविधा को लेकर प्रशासन पूरा विकास कर रहा है. कई होटल का निर्माण कराया जा रहा है. साथ ही पर्यटकों को हर सुविधा मुहैया कराया जाएगा.