close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना में रामलीला पर लगी रोक, गिरिराज सिंह बोले- 'धर्म पर बंदिश लगाना सही नहीं'

रमलीला महोत्सव की अनुमति नहीं मिलने पर गिरिराज सिंह ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि राज्य कुछ संकट में होगा. मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री बाढ़ और सुखाड़ से ज्यादा उस संकट से चिंतित होंगे. 

पटना में रामलीला पर लगी रोक, गिरिराज सिंह बोले- 'धर्म पर बंदिश लगाना सही नहीं'
पटना में जिला प्रशासन ने कुछ जगहों पर रामलीला पर रोक लगा दी है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना : बिहार की राजधानी पटना (Patna) में दशहरा के अवसर पर होने वाले रामलीला महोत्सव (Ramleela) पर जिला प्रसाशन ने रोक लगा दी है. यूथ हॉस्टल परिसर में रामलीला के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी गई थी. सुरक्षा कारणों से जिला प्रशासन ने रोक लगा दी है. वर्षों से ठाकुरबाड़ी में रामलीला का कार्यक्रम हो रहा था. आयुक्त की अध्यक्षता में दुर्गा पूजा और छठ पूजा की तैयारियों को लेकर बैठक हुई थी. इसी बैठक में लॉ एंड ऑर्डर के आधार पर यूथ हॉस्टल परिसर में रामलीला पर रोक लगाई गई. इस बैठक में पटना के कमिश्नर, डीएम, आईजी, एसएसपी समेत तमाम पदाधिकारी मौजूद थे.

रामलीला महोत्सव की अनुमति नहीं मिलने पर गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने तंज कसा है. उन्होंने कहा कि राज्य कुछ संकट में होगा. मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री बाढ़ और सुखाड़ से ज्यादा उस संकट से चिंतित होंगे. इसलिए कुछ कर रहे होंगे. लेकिन धर्म पर बंदिश लगाना सही नहीं है. रामलीला का मंचन हमारी संस्कृति में राम के प्रति आस्था को दर्शाता है.

इस मामले पर जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने कहा है कि प्रशासन ने एहतियातन कुछ जगहों पर रामलीला के मंचन पर रोक लगाई है. इसका दूसरा मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए. आरजेडी सांसद मनोज झा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए केसी त्यागी ने कहा कि जब भगदड़ होती है तब भी आरजेडी के लोग इस तरह के बयान देते हैं और जब भगदड़ रोकने की कार्रवाई होती है तो उसपर भी बयान देते हैं.

ज्ञात हो कि राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और सांसद मनोज झा ने प्रशासन के निर्णय पर चुटकी ली थी. मनोज झा ने कहा था कि सुरक्षा कारणों से रामलीला को रोकना यह बताता है कि राज्य सरकार सुरक्षा देने में भी असक्षम है. मनोज झा के मुताबिक, रोक भले ही मर्यादा पुरुषोत्तम वाली रामलीला पर लही हो, लेकिन राज्य में जेडीयू और बीजेपी के बीच रामलीला लगातार जारी है.

इस पूरे मामले पर बीजेपी के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि भारत के संविधान में सभी को स्वतंत्रता है. हर धर्म के लोगों को समाजिक और सांस्कृतक आयोजन में छूट दी गई है. रामलीला आने में वक्त है. समय आने पर अनुमति मिलेगी.

(स्वप्निल, रूपेंद्र और संजय की रिपोर्ट)