close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: आरा में कैदी ने की आत्महत्या की कोशिश, बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर

चिकित्सकों ने कैदी की हालत चिंताजनक देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि बंदी ने आखिरकार आत्महत्या करने की कोशिश क्यों की.

बिहार: आरा में कैदी ने की आत्महत्या की कोशिश, बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर
चिकित्सकों ने कैदी की हालत चिंताजनक देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया.

आरा: बिहार के आरा मंडलकारा में उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया जब जेल में एक बंदी ने अपनी गर्दन काटकर आत्महत्या करने का प्रयास किया. इस घटना को देख वहां मौजूद अन्य बंदियों ने हो हल्ला मचाया जिसके बाद जेल प्रशासन द्वारा जख्मी बंदी को आनन-फानन में इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लाया.

वहां मौजूद चिकित्सकों ने कैदी की हालत चिंताजनक देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि बंदी ने आखिरकार आत्महत्या करने की कोशिश क्यों की.

 

जेल सुप्रीमटेंडेंट ने बताया कि बंदी कुछ दिनों से मानसिक रूप से परेशान दिख रहा था. बुधवार शाम में वो बाथरूम गया तभी किसी धारदार वस्तु से अपने गर्दन पर वार किया और आत्महत्या करने की कोशिश की.

वहां मौजूद अन्य कैदियों ने घटना का देखा तो शोर मचाना शुरू किया. जख्मी बंदी का नाम पारसनाथ उपाध्याय है जो बड़हरा थाना क्षेत्र के महुदही गांव का निवासी है. कुछ दिनों पहले ही मारपीट के मामले में उसे जेल में बंद किया गया था. बहरहाल इस घटना के बाद से ही मंडलकारा के अंदर हड़कंप मचा हुआ है.