भ्रूण परीक्षण करने वाले पाप कर रहे हैं, कानून के दायरे में आएंगे : रघुवर दास

रघुवर दास ने लातेहार में आयोजित मुख्यमंत्री सुकन्या योजना जागरुकता समारोह में यह बात कही.

भ्रूण परीक्षण करने वाले पाप कर रहे हैं, कानून के दायरे में आएंगे : रघुवर दास

लातेहार : झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सोमवार को कहा कि वर्तमान समय में आदिवासी समाज कन्या भ्रूण हत्या से दूर है, जबकि शहर में बसने वाले पढ़े-लिखे लोग अल्ट्रासाउंड के माध्यम से कन्या का पता चलने पर भ्रूण हत्या कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे लोगों के विरुद्ध कानून सम्मत कदम उठायेगी.

रघुवर दास ने लातेहार में आयोजित मुख्यमंत्री सुकन्या योजना जागरुकता समारोह में यह बात कही.

उन्होंने कहा, 'बेटी की रक्षा की भावना को जन आंदोलन बनाना है ताकि कन्या भ्रूण हत्या थमे और भारतीय संस्कृति में जिस नारी को शक्ति का स्थान देकर पूजा जाता है वह जन्म ले सके. वह आगे बढ़े, उत्कृष्ट बने. सरकार यही चाहती है.'

दास ने कहा, 'यही वजह है कि मुख्यमंत्री सुकन्या योजना को राज्य में लागू किया गया. इस कार्य में जन सहभागिता जरूरी है ताकि हर घर की बच्ची इस योजना में सम्मिलित हो सके.'

उन्होंने कहा कि पुरुष और महिला लिंगानुपात को समतुल्य करने के उद्देश्य से बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का संदेश प्रधानमंत्री ने पानीपत से दिया था. राज्य सरकार उस बेटी के संरक्षण और उसके संवर्धन के लिए पहले पढ़ाई, फिर विदाई की बात करती है.