रांची पुलिस की अपराध पर अंकुश लगाने की कोशिश, तैयार किया 50 अतिरिक्त बाइकों का दस्ता

राजधानी रांची के बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने के लिए रांची पुलिस के बाइक दस्ते में 50 अतिरिक्त बाइक को शामिल किया गया है. 

रांची पुलिस की अपराध पर अंकुश लगाने की कोशिश, तैयार किया 50 अतिरिक्त बाइकों का दस्ता
रांची पुलिस ने बाइक दस्ता में अतिरिक्त मोटर साइकिल शामिल किया है.

रांचीः राजधानी रांची के बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने के लिए रांची पुलिस के बाइक दस्ते में 50 अतिरिक्त बाइक को शामिल किया गया है. जिससे क्राइम कंट्रोल करने के लिए कारगर साबित होगी. क्योंकि, राजधानी में हाल के दिनों में लूट छिनतई की घटनाएं देखने को मिली है.

लगातार हो रही घटनाओं को रोकने के लिए रांची पुलिस ने हॉटस्पॉट भी तैयार किया था. लेकिन संसाधनों की कमी की वजह से अपराधियों पर लगाम लगाने में रांची पुलिस असमर्थ थी. लेकिन अब हौंडा मोटर कंपनी के सहयोग से सीएसआर फंड के तहत रांची पुलिस को 50 बाइक दिया गया है. जो शहर के ट्रैफिक और क्राइम कंट्रोल करने की दिशा में बाइक दस्ता को तैनात किया जाएगा.

इस मौके पर रांची के न्यू पुलिस लाइन में डीआईजी एसएसपी सिटी एसपी ग्रामीण एसपी सहित कई अधिकारी मौजूद थे. इस मौके पर डीआईजी होमकर अमोल वीनूकांत ने कहा, है कि हमारी पूरी कोशिश है कि हम रेस्पोंसिबल पोलिसिंग दे सकें. नए संसाधन से विधि व्यवस्था को बनाए रखने में मदद मिलेगी, तो वहीं, होंडा कंपनी के अधिकारी ने भी कहा है कि आने वाले दिनों में रांची पुलिस को हर संभव मदद की जाएगी.

सीएसआर फन से रांची पुलिस को 50 बाइक मिली है जो शहर के क्राइम कंट्रोल करने के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी क्योंकि राजधानी रांची में कई ऐसे स्थान हैं. जहां अपराधी अपराध करने के बाद फरार हो जाते हैं. इस वजह से रांची पुलिस ने ऐसे जगहों को चिन्हित कर अब उन जगहों पर बाइक दस्ता तैनात करने का निर्णय लिया है.

इस मौके पर एसएसपी अनीश गुप्ता बोले इन बाइक को उन क्षेत्रों में लगाए जाएगा जहां फिलहाल टाइगर मोबाइल के जवान तैनात नहीं है. बीट पेट्रोलिंग टीम औऱ टाइगर मोबाइल के लिए इस्तेमाल होगी 50 बाइक रांची पुलिस को मिलने से विधि व्यवस्था के साथ ट्रैफिक व्यवस्था को संभालने में भी इन बाइक दस्ता का इस्तेमाल किया जाएगा.

रांची पुलिस के दस्ते में 50 बाइक को शामिल करने से शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है. इसके साथ ही इन बाइक दस्ते को एक्टिव कर रांची पुलिस अपराधियों के कमर तोड़ने का काम करेगी ताकि लूट और छिनतई जैसी घटना पर लगाम लगाया जा सकेगा.