लालू यादव से मुलाकात के बाद उपेंद्र कुशवाहा बोले- 'राहुल होंगे महागठबंधन के पीएम'

लालू यादव से मुलाकात करने के लिए उपेंद्र कुशवाहा और मीरा कुमार पहुंचे थे.

लालू यादव से मुलाकात के बाद उपेंद्र कुशवाहा बोले- 'राहुल होंगे महागठबंधन के पीएम'
उपेंद्र कुशवाहा लालू यादव से मुलाकात करने पहुंचे थे. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः महागठबंधन के अंदर फैसले को लेकर सहयोगी दल इंतजार कर रहे हैं. वहीं, लालू यादव से मुलाकात का दौर भी अब फिर से तेज हो गया है. शनिवार को लालू यादव से मुलाकात का दिन होता है. ऐसे में शनिवार को लालू यादव से मुलाकात करने के लिए फिर से आरएलएसपी प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पहुंचे थे. वहीं, कांग्रेस नेता मीरा कुमार और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार भी लालू यादव से मुलाकात की है.

उपेंद्र कुशवाहा इससे पहले भी लालू यादव से मुलाकात करने पहुंचे थे. उस वक्त वह तेजस्वी यावद, और सन ऑफ मल्लाह के साथ वहां पहुंचे थे. लेकिन आज उपेंद्र कुशवाहा लालू यादव से मिलने के लिए एक बार फिर रिम्स अस्पताल पहुंचे थे. माना जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा सीट शेयरिंग को लेकर ही लालू यादव से मुलाकात करने पहुंचे थे.

उपेंद्र कुशवाहा ने लालू यादव से मुलाकात करने के बाद कहा कि वह उनका सेहत जानने के लिए आए थे. वहीं, उन्होंने कहा कि महागठबंधन के प्रधानमंत्री राहुल गांधी ही होंगे. हालांकि इससे पहले राहुल गांधी का नाम महागठबंधन के पीएम के रूप में नहीं लिया जा रहा था. लेकिन उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि राहुल गांधी महागठबंधन के पीएम होंगे. हालांकि उनके इस बयान में महागठबंधन में सभी दल सहमत है या नहीं इसका कहना मुश्किल है.

इससे पहले शरद यादव ने कहा था कि जरूरी नहीं है कि पीएम चेहरा घोषित किया जाए. चुनाव के बाद भी चेहरा घोषित किया जा सकता है. यह पहले भी हुआ है. कई मौकों पर किसी को नहीं पता था लेकिन पीएम बनाया गया. उन्होंने इंद्र कुमार गुजराल, देवगौड़ा और कई नेताओं का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि किसी को नहीं पता था कि वह पीएम बनेंगे. 

वहीं, उपेंद्र कुशवाहा ने फिर से कहा है कि सीट शेयरिंग का फैसला जल्द हो जाएगा. हालांकि इससे पहले लालू यादव से मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि 14 के बाद सभी पार्टी मिलकर इसकी आधिकारिक घोषणा करेंगे. इस पर फैसला हो चुका है. लेकिन उन्होंने फिर से मुलाकात के बाद कहा है कि फैसला जल्द हो जाएगा.

माना जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा को सीट के लिए फिर से चिंता सताने लगी है. कुशवाहा ने मोतिहारी और गोपालगंज सीट पर पहले ही दावेदारी कर चुके हैं. उन्होंने जनता के सामने कहा कि वह इस सीट पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे इसका फैसला महागठबंधन में हो चुका है. लेकिन इसके बाद भी अभी तक कोई अधिकारिक घोषणा नहीं होने से उनकी चिंता अब बढ़ते जा रही है.