close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड: सुखाड़ पर दूसरे दिन भी सदन के भीतर ओर बाहर हंगामा जारी

झारखंड विधानसभा में सदन की कार्यवाही शुरु होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर कहा सुनी हुई. 

झारखंड: सुखाड़ पर दूसरे दिन भी सदन के भीतर ओर बाहर हंगामा जारी
विपक्ष की तरफ से सदन में मोर्चा नेता प्रतिपक्ष ने संभाला तो सत्ता पक्ष की तरफ से एक साथ कई मंत्रियों ने विपक्ष को घेरने की कोशिश की.

रांची: झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन सदन के बाहर विपक्ष ने सुखाड़ सहित कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश की. सदन में भी विपक्ष ने सुखाड़ सहित कई मुद्दों पर कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया जिसे अध्यक्ष ने अमान्य किया. सदन में नेता प्रतिपक्ष ने ही सरकार को घेरने के लिए मोर्चा संभाला और सत्ता पक्ष के विधायक द्वारा अधिकारी की पिटाई करने से लेकर स्वास्थ्य मंत्री पर घूस लेने का आरोप लगाते हुए सरकार को घेरने की कोशिश की. स्वास्थ्य मंत्री ने सदन में चुनौती देते हुए कहा कि जांच करवाएं, आरोप साबित हुआ तो इस्तीफा दे देगें. साथ ही जेएमएम पर पलटवार करते हुए कहा हमने झारखंड को दिल्ली में नहीं बचा, चंदा दिया है.

नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन ने सरकार के मंत्री और विधायकों पर खरे किये सवाल
झारखंड विधानसभा में सदन की कार्यवाही शुरु होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर कहा सुनी हुई. विपक्ष की तरफ से सदन में मोर्चा नेता प्रतिपक्ष ने संभाला तो सत्ता पक्ष की तरफ से एक साथ कई मंत्रियों ने विपक्ष को घेरने की कोशिश की. नेता प्रतिपक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री के घूस लेते वीडियो वायरल होने, सत्ता पक्ष के विधायकों द्वारा अधिकारियों की पिटाई मामला उठाकर सरकार को घेरने की कोशिश की.

नेता प्रतिपक्ष को जवाब देते हुए सत्ताधारी विधायकों ने कहा हम दिल्ली में झारखंड को नही बेचते
सदन के अंदर जब विपक्ष ने सरकार को घेरने की कोशिश की तो खूब शोर शराबा हुआ और जेएमएम के विधायक वेल में आ गए. तब सत्ताधारी दल के मुख्य सचेतक राधाकृष्ण किशोर ने विपक्ष पर पलटवार करते हुए कहा, जब विपक्ष के पास कोई प्रमाण नही है तो ऐसे विषय को सदन में न लाएं.
सदन में जब नेता प्रतिपक्ष सहित जेएमएम के सभी विधायक स्वास्थ्य मंत्री पर हमलावर हुए तो स्वास्थ्य मंत्री ने जेएमएम पर निशाना साधते हुए कहा, हमने झारखण्ड को दिल्ली में नहीं बेचा है हमने तो चंदा दिया है.

एसआईटी की रिपोर्ट सदन में रखने की मांग की हेमन्त ने
विपक्ष की तरफ से नेता प्रतिपक्ष यहीं नहीं रुके, सरकार पर हमलावर होते हुए सदन में पूछा, मेरे ऊपर जो आरोप लगे हैं उसका रिपोर्ट सदन में क्यों नहीं पेश किया जा रहा है। एसआईटी रिपोर्ट पेश करते हुए सदन में एक बार फिर स्वास्थ्य मंत्री पर हमला बोला.

क्या सदन की कार्यवाही आगे सुचारू रूप से चल पाएगी या पहले की तरह हंगामे की भेंट चढ़ेगी
झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन की कार्यवाही शुरु होते ही सदन में खूब तू-तू, मैं-मैं हुआ. विपक्ष और सत्ता पक्ष आमने सामने दिखा.