close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बदली नजर आएगी 17वीं लोकसभा की तस्वीर, नहीं दिखेंगे बिहार के ये प्रमुख चेहरे

बिहार से भी कई बड़े चेहरे इसबार लोकसभा में नहीं दिखेंगे. कुछ तो चुनाव नहीं लड़े और कुछ को हार का सामना करना पड़ा.

बदली नजर आएगी 17वीं लोकसभा की तस्वीर, नहीं दिखेंगे बिहार के ये प्रमुख चेहरे
लोकसभा में नहीं दिखेंगे बिहार के यह प्रमुख चेहरे. (फाइल फोटो)

पटना : दिल्ली में आज नरेंद्र मोदी दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. उनके साथ लगभग 40 मंत्री भी पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे. 17वीं लोकसभा की तस्वीर 16वीं से काफी बदली नजर आएगी. इसबार कई बड़े चेहरे आपको लोकसभा में नजर नहीं आएंगे. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, सुमित्रा महाजन, सुषमा स्वराज, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, कांग्रेस के सदन में नेता रहे मल्लिकार्जुन खड़गे और उपनेता ज्योतिरादित्य सिंधिया सरीखे नेता सदन में नहीं दिखेंगे.

अगर बिहार की बात करें तो यहां से भी कई बड़े चेहरे इसबार लोकसभा में नहीं दिखेंगे. कुछ तो चुनाव नहीं लड़े और कुछ को हार का सामना करना पड़ा.

इस लोकसभा में बिहार से जो चेहरे गायब रहेंगे उसमें प्रमुख नाम है हुकुमदेव नारायण यादव का. वह पांच बार सांसद बने. सोशलिस्ट नेता के साथ ही उन्हें अच्छे वक्ता के रूप में जाना जाता है. वह लोकसभा में पहली बार 1977 में पहुंचे थे. वह बिहार के मधुबनी का प्रतिनिधित्व करते थे. इस बार वह चुनाव नहीं लड़े. 

वहीं, कांग्रेस नेता तारिक अनवर अपनी परंपरागत सीट बिहार की कटिहार से चुनाव हार गए. इसके अलावा मोदी सरकार में राज्य मंत्री रहे और रालोसपा सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा भी आपको सदन में नजर नहीं आएंगे. वह भी चुनाव हार गए. वहीं, आरजेडी के चार सांसद. कांग्रेस की रंजीत रंजन, मधेपुरा के पूर्व सांसद पप्पू यादव भी अपना-अपना चुनाव हार गए. 

इस तरह इस बार लोकसभा की तस्वीर बदली हुई नजर आएगी. 542 सांसदों में से 300 पहली बार चुनाव जीतकर संसद पहुंचे हैं.