तेजस्वी यादव का नीतीश सरकार पर कड़ा प्रहार, कहा- बिहार को बना डाला 'लिंच विहार'

तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार के लॉ एंड ऑर्डर पर तीखा प्रहार किया है. उन्होंने कहा है कि नीतीश सरकार ने बिहार को 'लिंच विहार' में बदल दिया है. 

तेजस्वी यादव का नीतीश सरकार पर कड़ा प्रहार, कहा- बिहार को बना डाला 'लिंच विहार'
तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार में अपराध जहां पैर पसार रही है. वहीं, बिहार सरकार के लिए लॉ एंड ऑर्डर मश्किलें बढ़ा रही है. हालांकि, लॉ एंड ऑर्डर के लिए नीतीश सरकार ने अहम फैसला लेते हुए आईपीएस अधिकारियों में बड़ा फेर बदल किया है, लेकिन अपराध और हत्या के मामले में विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर हो रहा है.

तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार के लॉ एंड ऑर्डर पर तीखा प्रहार किया है. उन्होंने कहा है कि नीतीश सरकार ने बिहार को 'लिंच विहार' में बदल दिया है. उन्होंने बिहार में हो रहे मॉब लिंचिंग के लिए सरकार पर निशाना साधा है. बता दें कि बुधवार को आरजेडी नेता की हत्या के बाद भड़की भीड़ ने शक के आधार पर दो लोगों की बुरी तरह पिटाई की. जिससे दो लोगों की मौत हो गई.

तेजस्वी यादव ने ट्विट कर नीतीश सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा है. 'बिहार में भीड़तंत्र कायम है. पिछले 24 घंटों में मॉब लिंचिंग के कारण 3 लोगों की मौत हो गई. नीतीश कुमार के नेतृत्व में जनादेश लुटेरों ने बिहार को "लिंच-विहार" में बदल दिया है. पिछले 24 घंटों में 7 हत्याएं। बिहार में लॉ एंड ऑर्डर नियंत्रण से बाहर है क्योंकि अपराधियों के साथ नीतीश सरकार दस्ताने में काम कर रही है.'

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा, 'आपकी ऐसी सरकार को क्या नाम दूं मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमारजी ? आपके गृह जिला नालंदा सहित बिहार के सभी जिलों में हत्या, लूट, फिरौती, अपहरण और यौनाचार की घटनाएं हो रही है ! अब तो बख्श दीजिए बिहार को ! हाथ ही जोड़ लीजिए राज्यवासियों से....आखिर ये सुशासन का ढोंग कब तक चलेगा ?'

बहरहाल, लॉ एंड ऑडर्र नीतीश कुमार के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी कर दी है. यहां तक की अपराधिक घटनाओं की वजह से उनके साथी दल बीजेपी के नेता भी अब नीतीश कुमार पर तंज कस रहे हैं. हाल ही में बीजेपी एमएलसी के घर पर हुई नक्सली हमले के बाद बीजेपी नेता ने नीतीश कुमार को सीधे रूप से जिम्मेदार ठहराया था.