विधानसभा नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव, RJD के लिए मुश्किल हो रहा जवाब देना

विधानसभा में चर्चा के दौरान मंगलवार को उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तेजस्वी के सदन में नहीं आने पर सवाल खड़ा किया था. 

विधानसभा नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव, RJD के लिए मुश्किल हो रहा जवाब देना
बुधवार को भी विधानसभा नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता और राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के विधानसभा के मानसून सत्र में अब तक भाग नहीं लेने का मुद्दा अब आरजेडी सदस्यों के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है. आरजेडी के कई नेता अब इस सवाल पर चुप्पी साध ले रहे हैं. इस बीच, लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद चिराग पासवान ने तेजस्वी यादव से विपक्ष के नेता पद से इस्तीफे की मांग कर दी है. 

बिहार विधानसभा की कार्यवाही बुधवार को प्रारंभ होते ही संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने तेजस्वी के सदन में नहीं आने का मसला उठाया, जिसके बाद आरजेडी विधायक चुप हो गए. 

विधानसभा में चर्चा के दौरान मंगलवार को उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तेजस्वी के सदन में नहीं आने पर सवाल खड़ा किया था. 

इस बीच, लोजपा सांसद चिराग पासवान ने भी तेजस्वी के विधानसभा की कार्यवाही से नदारद रहने पर चुटकी ली है. पासवान ने कहा कि अगर तेजस्वी नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी सही ढंग से नहीं निभा पा रहे हैं या उनकी तबीयत खराब है तो ऐसे में उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

इधर, आरजेडी के नेता इस मामले में सफाई दे रहे हैं. आरजेडी के विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि तेजस्वी यादव को ज्यादा समय तक बैठने में दिक्कत हो रही है, जिस कारण वह सदन की कार्यवाही में भाग नहीं ले पा रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह जैसे ही स्वस्थ होंगे कार्यवाही में भाग लेने पहुंचेंगे. 

उल्लेखनीय है कि हाल ही में लोकसभा चुनाव में आरजेडी को मिली करारी हार के बाद 29 मई को हुई आरजेडी की समीक्षा बैठक के बाद तेजस्वी बिहार की राजनीति से 'गायब' हो गए थे. 29 जून को तेजस्वी ने एक ट्वीट कर अपने बीमार होने की बात बताते हुए जल्द ही पटना आने की जानकारी दी थी. 

तेजस्वी सोमवार को पटना पहुंचे थे, जिसके बाद से माना जा रहा था कि वह विधानसभा के मानसून सत्र में शामिल होंगे और विपक्ष की आवाज बुलंद करेंगे. लेकिन तेजस्वी अभी तक कार्यवाही में हिस्सा लेने विधानसभा नहीं पहुंचे हैं और विपक्ष के नेता की गैरमौजूदगी पर सत्ता पक्ष लगातार निशाना साध रहा है.