बक्सर: गाड़ी में तहखाना बनाकर की जा रही थी शराब तस्करी, दो गिरफ्तार

उत्पाद विभाग की टीम ने मौके से दो वाहन चालकों को भी गिरफ्तार किया है जबकि एक वाहन चालक भागने में कामयाब रहा. बताया जा रहा है कि शराब की खेप यूपी से लाई जा रही थी जो बिहार में दीवाली के मद्देनजर खपाई जानी थी.  

बक्सर: गाड़ी में तहखाना बनाकर की जा रही थी शराब तस्करी, दो गिरफ्तार
वाहनों के अंदर तहखाना बनाकर शराब की तस्करी की जा रही है. (फाइल फोटो)

बक्सर: दिवाली को देखते हुए शराब तस्करों ने शराब तस्करी का नया तरीका ढूंढ निकाला है. दरअसल बिहार में अब वाहनों के अंदर तहखाना बनाकर शराब की तस्करी की जा रही है. इसका खुलासा तब हुआ जब उत्पाद विभाग की टीम ने मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चौसा चेकपोस्ट के पास तीन वाहनों के अंदर तहखाना में छुपाकर तस्करी के लिए ले जाए जा रहे शराब की बड़ी खेप को जप्त कर लिया. 

जप्त की गई शराब की कीमत लाखों में बताई जा रही है. उत्पाद विभाग के अधिकारी ने बताया कि वाहन चेकिंग के दौरान तीन वाहनों को पकड़ा गया. पकड़े गए तीनों पिकअप वाहनों की जब तलाशी ली गई तो तहखाना के अंदर छुपा कर लाखों की शराब रखी गई थी. लगभग 50 पेटी शराब बरामद करते हुए शराब माफियाओं के मंसूबों पर उत्पाद विभाग की टीम ने पानी फेर दिया. 

उत्पाद विभाग की टीम ने मौके से दो वाहन चालकों को भी गिरफ्तार किया है जबकि एक वाहन चालक भागने में कामयाब रहा. बताया जा रहा है कि शराब की खेप यूपी से लाई जा रही थी जो बिहार में दीवाली के मद्देनजर खपाई जानी थी.

उत्पाद विभाग के अधिकारी ने बताया कि दिवाली में शराब की तस्करी को लेकर शराब तस्करों के द्वारा अलग-अलग तरीकों से शराब की तस्करी की जा रही है. उत्पाद अधिकारी के मुताबिक इस तरह का अभियान लगातार चलाया जाएगा ताकि शराब तस्करों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाए और शराब की तस्करी पर लगाम लगाया जाए.

दिवाली या फिर किसी दूसरे त्योहार में भी शराब तस्करी की संभावना काफी बढ़ हो जाती है. ऐसे में शराब तस्करी के लिए शराब तस्कर नए-नए तरीके इजाद कर अपने मंसूबे को अंजाम तक पहुंचाने में लगे रहते हैं. उत्पाद विभाग के अधिकारी ने कहा कि ऐसे लोगों पर नजर बनाए रखने के लिए आम लोगों से भी अपील की गई है कि वह इस तरह की सूचना हम तक पहुंचाएं ताकि न केवल शराब तस्करी पर लगाम लगाई जा सके बल्कि शराब तस्करों को भी सलाखों के पीछे पहुंचाया जा सके.