MP: अब ग्रामीण इलाकों की मजदूर महिलाएं मिलकर चलाएंगी कैफे हाउस

रतलाम कलेक्टर रुचिका चौहान ने महिला सशक्तिकरण के लिए ये कदम उठाकर नई पहल की है. रुचिका चौहान ने शहर में जिला पंचायत, नगर निगम में महिला समूह बनाकर उन्हें कैफे संचालन के लिए जगह उपलब्ध करवाई है. 

 MP: अब ग्रामीण इलाकों की मजदूर महिलाएं मिलकर चलाएंगी कैफे हाउस
मजदूरी करने वाली महिलाओं के लिए नया काम

रतलाम: अब रतलाम में मजदूरी करने वाली महिलाओं के लिए नया काम शुरु किया गया है. अब ये महिलाएं कैफे चलाकर अपने परिवार का ख्याल रख सकेंगी. पहले यहां ग्रामीण इलाकों की महिलाएं कड़ी मेहनत और मजदूरी करने दूसरे शहर तो कभी प्रदेश जाकर अपना परिवार पालती थी, वे अब रतलाम के सरकारी विभाग के कैफे का संचालन कर अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को मजबूत कर रही हैं.

रतलाम कलेक्टर रुचिका चौहान ने महिला सशक्तिकरण के लिए ये कदम उठाकर नई पहल की है. रुचिका चौहान ने शहर में जिला पंचायत, नगर निगम में महिला समूह बनाकर उन्हें कैफे संचालन के लिए जगह उपलब्ध करवाई है. 

यहां महिलाएं, इन कैफे को संचालित कर इसमे चाय-नाश्ते व खादय सामग्री बेचकर महिलाएं अपनी कमाई करेंगी. इसके अलावा जिले के अन्य शासकीय विभागों व जनपद पंचायतों में भी ऐसी व्यवस्था कर महिलाओं को आगे लाया जा रहा है.

अब इस व्यवस्था से गरीब मजदूर महिलाओं को आजीविका चलाने के लिए अन्य प्रदेशों में मजदूरी करने नही जाना पड़ेगा. वे अपने ही नगर में रहकर अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकेगी. 

इन कैफे पर 5 महिलाओं का समूह काम करेगा, यहां चाय के साथ पोहा, कचोरी, समोसा आदि के नाश्ते की व्यवस्था होगी. बता दें कि इन महिला समूह को लोन के माध्यम से राशि उपलब्द्ध करवाई गई है, जिससे ये महिलाएं कैफे संचालन के लिए जरूरी सामग्री बर्तन व अन्य खाद्य सामग्री खरीद पाएं. कैफे के लिए सामान लाने से लेकर बनाने और बेचने का काम इन महिलाओं द्वारा किया जाएगा. इसके लिए इन्हें ट्रेनिंग भी गयी है साथ ही इन्हें मुनाफा कमाने के लिए बचत की भी जानकारी दी गयी है.