अखिलेश की सभा में लगा 'जय श्रीराम' का नारा, तमतमाए सपा प्रमुख ने पुलिस अधिकारी को लताड़ा

अखिलेश यादव की सभा में 'जय श्री राम' का नारा लगाने वाले युवक की SP कार्यकर्ताओं ने पिटाई कर दी.

अखिलेश की सभा में लगा 'जय श्रीराम' का नारा, तमतमाए सपा प्रमुख ने पुलिस अधिकारी को लताड़ा
'श्री राम' के नारे की घटना से अखिलेश इस कदर नाराज हुए कि उन्होंने सुरक्षा में लगे इंस्पेक्टर राजा दिनेश सिंह को फटकार लगा दी. (फाइल फोटो)

राजीव श्रीवास्तव/कन्नौज: समाजवादी पार्टी (SP) के प्रमुख अखिलेश यादव ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के लोगों से अपनी जान का खतरा बताया. आरोप है कि कन्नौज में महिला सम्मेलन के दौरान सभा में घुसे एक युवक ने सपा प्रमुख यादव के सामने 'जय श्री राम' का नारा लगाया. इस घटना को सुरक्षा का उल्लंघन बताते हुए सपा प्रमुख ने आरोप लगाया कि उन्हें दो दिन पहले एक भाजपा नेता से धमकी मिली थी.

दरअसल, सपा के महिला सम्मेलन के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मंच पर बोल रहे थे, तभी एक युवक ने उनसे रोजगार पर सवाल पूछ लिया. इस दौरान सपा मुखिया ने उसे आगे बुलाया और जब युवक आगे पहुंचा तो उसने तेज आवाज में 'जय श्रीराम' बोल दिया.

नारे से तमतमाए यादव
इससे अखिलेश यादव बिफर गए और उन्होंने कहा, ''हम तो विष्णु भगवान को भी मानते हैं, कृष्ण भगवान को भी मानते हैं, जरूरी है क्या यही बोलें.'' इसके बाद वहां मौजूद सपा नेताओं ने उस युवक को बीजेपी कार्यकर्ता बताकर पीट डाला. मौके पर मौजूद पुलिस ने किसी तरह उसे बचाया और बाहर निकाला. इस घटना से अखिलेश इस कदर नाराज हुए कि उन्होंने सुरक्षा में लगे इंस्पेक्टर राजा दिनेश सिंह को फटकार लगा दी.

भाजपा का आदमी यहां तक कैसे पहुंचा?
सपा प्रमुख ने पूछा कि पुलिस के रहते भाजपा का आदमी यहां तक कैसे पहुंच गया? उन्होंने युवक से जान का खतरा भी बताया. अखिलेश ने कहा कि युवक बैग टांगे था, उसमें क्या था किसे क्या मालूम? उसका बैग चेक होना चाहिए था. अखिलेश यहीं नहीं रुके, तालग्राम इंस्पेक्टर को चेतावनी दी कि जब तक वह उस युवक का नाम और पता नहीं बता देते तब तक वह कहीं नहीं जाएंगे. अखिलेश यादव ने जब मंच से युवक का नाम और पता पूछ लिया तब भाषण समाप्त किया.

बीजेपी को दी हिदायत
पत्रकारों से वार्ता के दौरान अखिलेश ने कहा, ''भाजपा यह न समझे कि अपने कार्यकर्ता को भेजकर हमारी चुनावी जनसभा या कार्यक्रम खराब कर सकते हैं. यह याद रखना वह भी कन्नौज में फिर कार्यक्रम नहीं कर पाएंगे.''

लड़के को जेल में न डालें
अखिलेश यादव ने कहा, ''मैं प्रशासन से कहूंगा कि उस लड़के को जेल में न डालें, लेकिन कल उस लड़के को और उसके पिता जी को हम से मिला तो दें ताकि पता चले कि आखिर सभा क्यों खराब कर रहे हैं?

एलएलबी कर रहा आरोपी
वहीं, सदर कोतवाल विनोद मिश्रा ने बताया कि युवक के खिलाफ शांति भंग की कार्रवाई की जा रही है. युवक गुगरापुर का रहने वाला गोविंद शुक्ला पुत्र अशोक कुमार शुक्ला है. जो बीए करने के बाद एलएलबी कर रहा है.