कुंभ में पहुंचे अखिलेश बोले-योगी पहले फसल को सांडों से बचाएं, राममंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट देख लेगा

अखिलेश ने कहा, ''यूपी की जनता ने 90 दिन और आपको दे दिए. सांडों से खेत बचा लो.  पहले किसान तो बचे. जानवर से फसल बचाने में लोगों की जान जा रही है.

कुंभ में पहुंचे अखिलेश बोले-योगी पहले फसल को सांडों से बचाएं, राममंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट देख लेगा

राहुल मिश्रा, प्रयागराज: उत्‍तरप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव रविवार को कुंभ में पहुंचे. यहां पर उन्‍होंने कई साधु संतों से मुलाकात की. इसी दौरान उन्‍होंने एक बातचीत में यूपी सरकार को कई मुद्दों पर घेरा. अखि‍लेश यादव ने कहा, मुझे खुशी है कि कुम्भ में साधु संतों से मुलाकात का वक़्त मिलता है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि 24 घंटे का समय दे दिया जाए तो हम राम मंदिर बना देंगे, इस सवाल पर अखिलेश ने कहा, ''यूपी की जनता ने 90 दिन और आपको दे दिए. सांडों से खेत बचा लो.  पहले किसान तो बचे. जानवर से फसल बचाने में लोगों की जान जा रही है. पहले सांडों से खेत तो बचा लो. 24 घंटे तो दूसरी बात है. 26 जनवरी मनाई है और सब 26 जनवरी को मुख्यमंत्री की ऐसी भाषा हो तो समझ लो मुख्यमंत्री कैसे हैं. हम तो यही निवेदन करेंगे कि सुप्रीम कोर्ट तय करेगा.''

अखिलेश ने कहा, नदी साफ हो इसके लिए और काम करना पड़ेगा. जिस तरह हमने गोमती को साफ किया था, उसी तरीके सभी शहरों में काम शुरू हो जाए तो गंगा मैया वैसी ही बहेंगी, जैसे पहले थीं. जब समाजवादियों को मौका मिलेगा तो नदियों को कैसे साफ किया जाता है, वह हम बता देंगे. संगम अर्धकुंभ ये नाम बदल जाएं और कुंभ के किनारे चाहे कैबिनेट हो जाए, लेकिन अगर किसान खुशहाल ना हो, नौजवानों को नौकरी ना मिले यह सब बातें अधूरी रह जाती हैं. हम तो चाहेंगे कि केंद्र सरकार उत्तरप्रदेश सरकार को ये जो किला बना है वो दान कर दे. वट वृक्ष देखने का मौका मिले, सरस्वती जी को देखने का मौका मिले, बीजेपी के लोग उसे ढूंढेंगे, वो किले में कैद हैं. उन्होंने ढूंढने का वादा किया था शायद अब मिल जाए तो दर्शन करने का मौका मिलेगा.

बीजेपी के लोगों ने दो दो शपथ ली हैं
अखिलेश: देश ने बहुत भरोसे के साथ बीजेपी की सरकार बनाई थी. भारतीय जनता पार्टी ने निराश किया ना अच्छे दिन आए न 15 लाख नौकरियां आईं. ना जीएसटी से व्यापार बड़ा. बीजेपी के लोगों ने दो-दो शपथ ली हैं. एक आरएसएस की और दूसरी संविधान की. कभी कभी भूल जाते हैं कि किस शपथ से देश चलाना है और किस शपथ से संविधान चलाना है.

सत्ता में आये तो सार्वजनिक करेंगे जाति‍ के आंकड़े
अखि‍लेश ने कहा, हमारी तुलना किसी से मत कीजि‍ए. यहां सिलिंडर फट गया. कुम्भ में लोग व्यवस्था देखने नहीं आते यहां एक दूसरे से मिलने अध्यात्म के लिए आते हैं. हम जब सत्‍ता में आएंगे तो जाति आधारित आंकड़े जारी करेंगे.

प्रियंका गांधी के राजनी‍ति में आने पर अखि‍लेश यादव ने सीधा जवाब नहीं दि‍या, उन्‍होंने कहा, मैं तो चाहता हूं ज्यादा से ज्यादा युवा पीढ़ी राजनीति में आए.  अखिलेश ने महागठबंधन के सवाल पर कहा, हमारी पार्टी और बसपा का गठबंधन हुआ है, कांग्रेस को तो  इस गठबंधन का समर्थन करना चाहिए.